Assembly Banner 2021

विधानसभा चुनाव: EC ने बंगाल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) को हटाया

निर्वाचन आयोग ने पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है. ANI

निर्वाचन आयोग ने पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है. ANI

कोलकाता, 27 फरवरी (भाषा) पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा करने के एक दिन बाद शनिवार को चुनाव आयोग ने अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) जावेद शमीम को उनके पद से हटा दिया एवं उनके स्थान पर जग मोहन को नियुक्त किया। एक आधिकारिक आदेश में यह जानकारी दी गयी है।

  • भाषा
  • Last Updated: February 27, 2021, 11:01 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा करने के एक दिन बाद शनिवार को चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) जावेद शमीम को उनके पद से हटा दिया एवं उनके स्थान पर जग मोहन को नियुक्त किया. एक आधिकारिक आदेश में यह जानकारी दी गई है. इस आदेश के अनुसार, 1995 बैच के आईपीएस अधिकारी शमीम को मोहन की जगह महानिदेशक (अग्निशमन विभाग) बनाया गया है. उनका रैंक एडीजी का ही होगा. इस फेरबदल से कुछ घंटे पहले बीजेपी का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्य निर्वाचन अधिकारी आरिज आफताब से मिला था और उनसे ‘पक्षपाती’ पुलिस अधिकारियों को चुनाव ड्यूटी से हटाने की अपील की थी. इस प्रतिनिधिमंडल में सांसद स्वप्न दासगुप्ता एवं अर्जुन सिंह शामिल थे.

बंगाल में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव 

राज्य की ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) सरकार ने विधानसभा चुनाव से पहले इसी महीने शमीम को राज्य का अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) बनाया था. उससे पहले वह कोलकाता पुलिस के विशेष पुलिस आयुक्त (द्वितीय) थे. पश्चिम बंगाल में इस बार आठ चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे. पिछली बार सात चरणों में विधानसभा चुनाव हुए थे. मुख्य निर्वाचन अधिकारी से भेंट करने के बाद दासगुप्ता ने कहा था, ‘‘पश्चिम बंगाल में जिस तरह पुलिस प्रशासन काम कर रहा है, उससे स्पष्ट है कि यहां निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है. हम कुछ पुलिस अधिकारियों का नाम भी बता सकते हैं, जो शहर में पदस्थापित हैं. यदि वे अपने पदों पर बने रहते हैं तो निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है.’’



इससे पहले भारतीय निर्वाचन आयोग ने शनिवार को पंजाब के 38 IAS और 16 IPS अधिकारियों को पर्यवेक्षक के तौर पर पांच राज्यों असम, केरल, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी के चुनावों में पर्यवेक्षक नियुक्त किया है. पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एस करुणा राजू ने कहा कि चुनाव आयोग इस संबंध में वीडियो-कॉन्फ्रेंस के माध्यम से 3 मार्च को पर्यवेक्षकों की एक संक्षिप्त बैठक आयोजित करेगा. मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि चार राज्यों और केंद्र शासित पुडुचेरी को मिलाकर कुल 824 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होगा और इस दौरान कुल 18.68 करोड़ मतदाता 2.7 लाख मतदान केंद्रों पर मतदान करने के पात्र होंगे.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज