अपना शहर चुनें

States

बंगाल BJP चीफ दिलीप घोष बोले- सौरव गांगुली जैसे सफल लोगों को राजनीति में जरूर आना चाहिए

दिलीप घोष ने कहा कि सौरव गांगुली जैसे सफल लोगों को राजनीति में जरूर आना चाहिए.
दिलीप घोष ने कहा कि सौरव गांगुली जैसे सफल लोगों को राजनीति में जरूर आना चाहिए.

पश्चिम बंगाल के बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष ने कहा, 'हम लोगों से अपील करते हैं कि वे आएं और बीजेपी में शामिल हों.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 29, 2020, 8:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने रविवार को पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की थी. हालांकि जानकारी दी गई कि यह महज शिष्‍टाचार भेंट थी. अब सोमवार को पश्चिम बंगाल के बीजेपी प्रमुख दिलीप घोष ने इसे लेकर प्रतिक्रिया दी है. उनका कहना है कि सौरव गांगुली जैसे सफल लोगों को राजनीति में जरूर आना चाहिए.

दिलीप घोष ने कहा, 'हम लोगों से अपील करते हैं कि वे आएं और बीजेपी में शामिल हों. सौरव गांगुली के पास राज्‍यपाल से मिलने के सभी अधिकार हैं. वह भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान और मौजूदा बीसीसीआई अध्‍यक्ष हैं. उनके जैसे सफल लोगों को राजनीति में जरूर आना चाहिए. बीजेपी हर किसी को साथ लेकर राज्‍य सरकार के खिलाफ लड़ाई लड़ने को तैयार है.'

रविवार को राजभवन में राज्‍यपाल से मुलाकात के बाद सौरव गांगुली ने कहा, 'मैं यहां राज्‍यपाल को ईडेन गार्डन में आने के लिए आमंत्रित करने आया हूं. राज्‍यपाल आज तक ईडेन गार्डन नहीं गए. वह आज ही ईडेन गार्डन जाना चाहते थे. लेकिन मैंने उनसे कहा कि यह संभव नहीं है, वहां प्रैक्टिस मैच चल रहा है. मैंने उन्‍हें अगले हफ्ते आमंत्रित किया है. यह सिर्फ शिष्‍टाचार भेंट थी.'




हालांकि, अगले साल अप्रैल-मई में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव के मद्देनजर गांगुली के राजनीति में आने के कयास लगाए जा रहे हैं. राज्यपाल ने कहा कि उन्होंने बीसीसीआई अध्यक्ष का यहां के इडेन गार्डन स्टेडियम में आने का न्योता स्वीकार कर लिया है. राजभवन के सूत्रों ने बताया कि गांगुली के राज्यपाल से मुलाकात का संबंध राज्य की राजनीतिक गतिविधियों से नहीं है.

राज्यपाल ने ट्वीट कर कहा था, ‘बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली से शाम साढ़े चार बजे राजभवन में विभिन्न मुद्दों पर संवाद हुआ. देश के सबसे पुराने क्रिकेट मैदान इडेन गार्डन का दौरा करने का उनका प्रस्ताव स्वीकार किया. इडेन गार्डन की स्थापना 1864 में हुई थी.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज