पश्चिम बंगाल में भाजपा की रथयात्रा को रोकने के लिए कलकत्ता हाईकोर्ट में PIL

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी का विशेष फोकस है. (सांकेतिक फोटो)

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी का विशेष फोकस है. (सांकेतिक फोटो)

West Bengal Assembly Election: भाजपा ने चुनाव में अपने पक्ष में समर्थन तैयार करने के लिए फरवरी और मार्च में रथयात्राएं निकालने का निर्णय लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 6:33 PM IST
  • Share this:

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा ने अपनी तैयारियों को अमलीजामा पहनाना शुरू कर दिया है. यही वजह है कि पार्टी ने फरवरी और मार्च महीने में यहां रथयात्रा निकालने की योजना बनाई है. हालांकि भाजपा के लिए परेशानी खड़ी हो सकती है क्योंकि इस रथयात्रा को रोकने के लिए कलकत्ता उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका दायर की गई है. रमा प्रसाद सरकार ने बुधवार को याचिका दाखिल करते हुए हाईकोर्ट से रथयात्रा पर रोक लगाने के लिए निर्देश देने की मांग की है.


भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले महीने भर चलने वाली पार्टी की रथयात्रा का शनिवार को शुभारंभ करेंगे. सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. भाजपा ने चुनाव में अपने पक्ष में समर्थन तैयार करने के लिए फरवरी और मार्च में रथयात्राएं निकालने का निर्णय लिया है. यह यात्राएं पांच खंडों में होंगी और राज्य के सभी 294 विधानसभा क्षेत्रों से गुजरेंगी.


Youtube Video

पार्टी के कई शीर्ष नेता इस रथयात्रा के दौरान राज्य में पहुंचेंगे. ये रथयात्राएं शनिवार, सोमवार और अगले मंगलवार को नबाद्वीप, कूचबिहार, काकद्वीप, झारग्राम और तारापीठ से रवाना होंगी. भाजपा के एक नेता ने कहा, ‘‘जेपी नड्डा छह फरवरी को इस यात्रा का उद्घाटन करने के लिए नबाद्वीप में होंगे. अमित शाह के भी बाद में रथयात्रा कार्यक्रमों में शामिल होने की संभावना है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अमित शाह के कार्यक्रमों की पुष्टि अभी होना बाकी है.’’


प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने विश्वास प्रकट किया कि रथयात्रा अप्रैल-मई में होने वाले चुनाव से पहले पार्टी के लिए पासा पलटने वाली होगी. राज्य में 2018 में भी पार्टी ने ऐसी ही रथयात्राओं की योजना बनायी थी, लेकिन राज्य सरकार द्वारा अनुमति देने से इनकार करने के बाद अंतिम घड़ी में इस कार्यक्रम को स्थगित करना पड़ा था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज