Home /News /nation /

पश्चिम बंगाल: बीजेपी ने बदली रणनीति, भवानीपुर में बड़ी रैली नहीं घर-घर जाकर करेगी प्रचार

पश्चिम बंगाल: बीजेपी ने बदली रणनीति, भवानीपुर में बड़ी रैली नहीं घर-घर जाकर करेगी प्रचार

ममता के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरी हैं प्रियंका टिबरेवाल. (File pic)

ममता के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरी हैं प्रियंका टिबरेवाल. (File pic)

पश्चिम बंगाल (West Bengal) विधानसभा चुनाव के दौरान ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ा था और उन्‍हें बीजेपी के उम्‍मीदवार सुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) से हार का सामना करना पड़ा था. ममता बनर्जी को भवानीपुर (Bhawanipur) सीट से कड़ी टक्‍कर देने के लिए बीजेपी ने प्रियंका टिबरवाल को मैदान में उतारा है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में होने वाले विधानसभा के उपचुनाव (By-Polls) को लेकर बीजेपी (BJP) ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है. पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को भवानीपुर (Bhawanipur) से टक्‍कर देने के लिए बीजेपी डोर टू डोर प्रचार करने में जुटी हुई है. बता दें कि भवानीपुर सीट से पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी चुनाव लड़ रही हैं. विधानसभा चुनाव के दौरान ममता बनर्जी ने नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ा था और उन्‍हें बीजेपी के उम्‍मीदवार सुवेंदु अधिकारी से हार का सामना करना पड़ा था. ममता बनर्जी को भवानीपुर सीट से कड़ी टक्‍कर देने के लिए बीजेपी ने प्रियंका टिबरवाल को मैदान में उतारा है.

    विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने कई बड़ी रैलियां और रोड शो किया था. बीजेपी की रैलियों और रोड शो में भले ही भारी भीड़ देखने को मिली थी लेकिन चुनाव के दौरान ममता के जादू के सामने बीजेपी की हर रणनीति बौनी साबित हुई. यही कारण है कि अब बीजेपी ने रैलियों से फोकस हटा लिया है. भवानीपुर सीट से ममता बनर्जी को कड़ी से कड़ी टक्‍कर देने के लिए प्रियंका टिबरवाल घर-घर जाकर प्रचार कर रही है.

    पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने बताया कि बंगाल में चुनाव के बाद जिस तरह की हिंसा देखने को मिली है उसके बाद पार्टी ने चुनाव की रणनीति में बदलाव किया है. उन्‍होंने कहा कि इस बार के चुनाव प्रचार में हमारी रणनीति साफ है. हम साइलेंट तरीके से घर-घर जाकर मतदाताओं से बात करेंगे. हम जब पहले प्रचार किया करते थे उस समय मीडिया हमारे साथ रहती थी. इसकी जानकारी मिलते ही टीएमसी कार्यकर्ता भी वहां पहुंच जाते थे और लोगों को धमकाते थे. यही कारण है कि हमने अपनी रणनीति में बदलाव किया है और हमारे नेता और कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों से मिल रहे हैं.

    बता दें मुख्यमंत्री को अपनी कुर्सी बचाये रखने के लिए यह उपचुनाव जीतना जरूरी होगा. पश्चिम बंगाल की तीनों सीटों पर मतदान की अधिसूचना छह सितंबर को जारी की गई थी और नामांकन की अंतिम तारीख 13 सितंबर थी. सभी तीन सीटों पर 30 सितंबर को मतदान होना है जबकि मतगणना तीन अक्टूबर को होगी. गौरतलब है कि पार्टी के वरिष्ठ नेता सोभनदेव चट्टोपाध्याय ने भबानीपुर से तृणमूल कांग्रेस विधायक के रूप में इस्तीफा दिया था, ताकि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के उपचुनाव लड़कर राज्य विधानसभा की सदस्य बनने का रास्ता साफ हो सके. चट्टोपाध्याय ने इस सीट पर भाजपा के उम्मीदवार और अभिनेता रुद्रनील घोष को करीब 28,000 वोटों से हराया था. बनर्जी 2011 से दो बार भबानीपुर सीट पर चुनाव जीत चुकी हैं.

    Tags: Bhawanipur, CM Mamata Banerjee, Priyanka Tibrewal, West bengal, West Bengal Bypolls

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर