अपना शहर चुनें

States

कोल स्मगलिंग केस: CM ममता की बहू को समन, भतीजे अभिषेक बनर्जी ने कहा- झुकेंगे नहीं

कोल स्मगलिंग केस CBI ने अभिषेक बनर्जी की पत्नी को दिया समन.
कोल स्मगलिंग केस CBI ने अभिषेक बनर्जी की पत्नी को दिया समन.

केंद्रीय जांच ब्‍यूरो (CBI) की एक टीम आज पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ( Abhishek Banerjee) के घर पर पहुंची है. खबर है कि कोयला तस्करी मामले में अभिषेक बनर्जी को समन जारी किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 6:34 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अगले कुछ महीनों में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं. केंद्रीय जांच ब्‍यूरो (CBI) की एक टीम आज पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी के घर पर पहुंची. सूत्रों के मुताबिक, कोयला तस्करी मामले में अभिषेक बनर्जी की पत्नी को समन जारी किया गया है. CBI से जुड़े सूत्रों ने बताया कि अभी अभिषेक की पत्नी रुजीरा नरूला को ही समन दिया गया है और उन्हें आज ही पूछताछ के लिए बुलाया गया है. सूत्रों ने बताया कि अभिषेक को सम्मन अभी नहीं दिया गया है. नरूला से पूछताछ के बाद अभिषेक को जल्द ही समन दिया जाएगा.

सीबीआई का समन मिलने पर टीएमसी नेता अभिषेक बनर्जी ने ट्वीट कर कहा कि आज दो बजे सीबीआई ने मेरी पत्नी के नाम पर नोटिस दिया है. हमें देश के कानून पर पूरा भरोसा है. जो भी हो, अगर उन्हें लगता है कि वह इसे हमें रोकने या परेशान करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं तो ये उनकी गलती है. हम उनमें से नहीं हैं जो कि झुक जाएं"







ऐसा पहली बार है जब कोयला तस्करी मामले में सीबीआई ने एक्‍शन लिया और टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी के घर पर पहुंची. सीबीआई का टीम जब अभिषेक के घर पहुंची तो वह और उनकी पत्नी घर पर नहीं थे. हालांकि हालात बिगड़ने की आशंका को देखते हुए पुलिस ने पूरे इलाके की बैरिकेटिंग कर दी है.

बता दें कि कोयला के अवैध खनन और तस्‍करी के मामले में सीबीआई लगातार छापेमारी कर रही है. इस मामले में जयदेव मंडल और लंबे समय से फरार चल रहे कोयला माफिया अनूप माजी उर्फ लाला के ठिकाने भी सीबीआई ने कुछ दिन पहले ही रेड डाली थी. इस दौरान सीबीआई ने कोलकाता, पुरुलिया, पश्चिम बर्धमान, और बांकुड़ा में तलाशी अभियान चलाया था. सीबीआई ने छापेमार कार्रवाई के दौरान मंडल, माजी और अमिया स्टील नामक एक कंपनी के परिसरों में तलाशी ली थे. इससे पहले सीबीआइ ने कुछ दिन पहले ही कोयला तस्करी के मामले में कारोबारी और युवा तृणमूल कांग्रेस के नेता विनय मिश्रा, व्यवसायी अमित सिंह और नीरज सिंह के तीन आवासों पर छापेमारी की थी.

इसे भी पढ़ें :- अभिषेक बनर्जी का BJP पर निशाना- विधानसभा चुनाव के बाद वापस लौट जाएंगे बाहरी लोग

छापे के दौरान सीबीआई को कोई भी घर पर नहीं मिला था, जिसके बाद विनय मिश्रा समेत अन्‍य सभी के नाम पर लुकआउट नोटिस जारी किया गया था. कई बार पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर भी हाजिर न होने पर विनय मिश्रा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हो चुका है. सीबीआई ने इस मामले में अनूप माजी उर्फ लाला की संपत्तियों को जब्त करने के लिए हाई कोर्ट में अपील की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज