बंगाल: प्रोफेसर ने नहीं लगाया 'जय ममता' का नारा, छात्रों ने जमकर पीटा

पुलिस ने बताया कि सुब्रत चटर्जी पर हमला करने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. वे नबग्राम हीरालाल पॉल कॉलेज के छात्र नहीं हैं जहां बुधवार को यह घटना घटी थी.

News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 11:23 PM IST
बंगाल: प्रोफेसर ने नहीं लगाया 'जय ममता' का नारा, छात्रों ने जमकर पीटा
पुलिस ने बताया कि सुब्रत चटर्जी पर हमला करने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. वे नबग्राम हीरालाल पॉल कॉलेज के छात्र नहीं हैं जहां बुधवार को यह घटना घटी थी.
News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 11:23 PM IST
पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में कथित रूप से 'जय ममता' और 'तृणमूल जिंदाबाद' के नारे लगाने को लेकर छात्रों के दो गुटों में विवाद हो गया. इस दौरान बीच बचाव करने गए कॉलेज के एक शिक्षक के साथ छात्रों ने धक्‍का-मुक्‍की की और उनके मुंह पर मुक्‍के भी मारे.

पुलिस ने बताया कि सुब्रत चटर्जी पर हमला करने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. वे नबग्राम हीरालाल पॉल कॉलेज के छात्र नहीं हैं जहां बुधवार को यह घटना घटी थी. कुछ टीवी चैनलों ने इस विवाद का वीडियो भी दिखाया है. वीडियो में देखे गए दृश्‍य के अनुसार, जब चटर्जी कुछ छात्राओं के साथ कॉलेज के दरवाजे से बाहर निकले तो दो युवक डराने वाले अंदाज में उनकी ओर बढ़ रहे हैं.

दोनों युवक शिक्षक को धक्का देते हुए तथा उनके सिर और मुंह पर मुक्के मारते हुए दिख रहे हैं. इसके बाद चटर्जी जमीन पर गिर जाते हैं तथा कुछ लड़कियां उनके मुंह पर पानी छिड़कती हैं और पीने के लिए पानी देती दिख रही हैं.

सेल्‍फी को लेकर शुरू हुआ विवाद

कॉलेज सूत्रों ने बताया कि कॉलेज परिसर से संचालित होने वाले नेताजी मुक्त विश्वविद्यालय की परास्नातक की कुछ छात्राएं एक क्लासरूम में सेल्फी ले रही थी. तभी टीएमसी के कुछ सदस्यों ने उनसे वहां से चले जाने को कहा जिसे लेकर दोनों पक्षों के बीच बहस हो गई.

छात्राओं ने वहां से जाने से इनकार किया, तो टीएमसी के छात्रों ने मुख्यमंत्री और उनकी पार्टी के पक्ष में नारे लगाने को कहा लेकिन उन्होंने इससे भी इनकार कर दिया. छात्राओं ने दावा किया कि टीएमसी के समर्थकों ने उनपर हमला किया और उन्हें क्लासरूम में बंद कर दिया.

मामला बनर्जी ने दिया कार्रवाई का आश्‍वासन
Loading...

चटर्जी और कुछ वरिष्ठ शिक्षकों ने हस्तक्षेप किया और मामला शांत हो गया. लेकिन, जब वह लड़कियों के साथ कॉलेज के बाहर आ रहे थे तब मामला फिर भड़क गया. घटना ने खासा विवाद पैदा कर दिया है जिसके बाद स्थिति को संभालने के लिए ममता बनर्जी ने शिक्षक से बात की और उनको सुरक्षा का आश्वासन दिया.

चटर्जी ने कहा, 'मुख्यमंत्री ने मुझसे कहा-डरे नहीं. उन्होंने कहा कि वह हमारी तरफ हैं. हम आपको सुरक्षा देंगे.' तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय विधायक पी घोषाल ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा, 'यह कानून व्यवस्था का मसला है. मैंने स्थानीय थाने से जरूरी कार्रवाई करने का अनुरोध किया है.' टीएमसीपी प्रदेश इकाई के अध्यक्ष टी भट्टाचार्य ने कहा कि अगर संगठन का कोई सदस्य घटना में लिप्त पाया गया तो सख्त कार्रवाई की जाएगी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 11:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...