आईएसएफ के साथ बातचीत शुरू करने पश्चिम बंगाल कांग्रेस ने अनुमति मांगी

कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के लिए वाम दलों से गठबंधन किया है. (File pic)

कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के लिए वाम दलों से गठबंधन किया है. (File pic)

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election 2021) को लेकर इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) के साथ बातचीत शुरू करने पर पश्चिम बंगाल कांग्रेस (West Bengal Congress) ने एआईसीसी से अनुमति मांगी है. राज्य कांग्रेस ने धर्मनिरपेक्ष दलों का महागठबंधन बनाने की कोशिश जारी रखी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2021, 12:56 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव को लेकर वाममोर्चा के साथ वार्ता के बीच राज्य कांग्रेस ने धर्मनिरपेक्ष दलों का महागठबंधन बनाने के लिये पीरजादा अब्बास सिद्दीकी के नवगठित इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) के साथ बातचीत शुरू करने के लिए बृहस्पतिवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) से मंजूरी मांगी है. पश्चिम बंगाल में अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं.

प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अब्दुल मन्नान ने पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में कहा है कि वह आईएसएफ के साथ पहले ही 'अनौपचारिक बातचीत' शुरू कर चुके हैं और पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष अधीर चौधरी ने फुरफुरा शरीफ दरगाह में सिद्दीकी से मुलाकात भी की है.

Youtube Video


मन्नान ने कहा, 'आगामी विधानसभा चुनाव में वाम-कांग्रेस गठबंधन में आईएसएफ का शामिल होना रुख बदलने वाला कदम साबित हो सकता है...मैं आईएसएफ से अनौपचारिक बातचीत शुरू कर चुका हूं और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने हाल ही में सिद्दीकी से मुलाकात की है.
उन्होंने इस मुद्दे पर मुझसे बात की है और पीरजादा सिद्दीकी के परिवार से मेरे दशकों के पुराने निजी संबंध होने के चलते मुझसे मदद मांगी है.' उन्होंने कहा कि माकपा पोलित ब्यूरो के सदस्य मोहम्मद सलीम भी सिद्दीकी से बात कर रहे हैं. पीरजादा ने भी वाम-कांग्रेस गठबंधन से समझौते का भरोसा जताया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज