West Bengal Assembly Election 2021: चुनाव आयोग के खिलाफ धरने पर बैठीं ममता, सेना ने कहा- हमने नहीं दी इजाजत

EC के फैसले के खिलाफ धरनारत सीएम ममता बनर्जी

EC के फैसले के खिलाफ धरनारत सीएम ममता बनर्जी

West Bengal Assembly election 2021: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके चुनाव प्रचार करने पर 24 घंटे का प्रतिबंध लगाने के निर्वाचन आयोग के फैसले के खिलाफ में धरने पर बैठ गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 5:47 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal Assembly Election 2021) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamamta Banerjee) ने उनके चुनाव प्रचार करने पर 24 घंटे का प्रतिबंध लगाने के निर्वाचन आयोग (Election Commission) के फैसले के खिलाफ कोलकाता में धरना शुरू किया. ममता ने धरने में दौरान विरोध स्वरूप काली शॉल भी ओढ़ रखी है. इसके साथ ही वह वहां पेंटिंग भी कर रही हैं. धरने के दौरान ममता ने पेंटिग्स बनाईं और उन्हें लोगों को दिखाया.

मिली जानकारी के अनुसार सीएम धरने पर गांधी मूर्ति के पास बैठीं. सीएम के धरने में उनके आसपास बहुत ज्यादा भीड़ या नेताओं की मौजूदगी नजर नहीं आ रही है. बनर्जी पिछले महीने चोटिल होने के कारण व्हीलचेयर पर बैठकर पूर्वाह्न करीब 11 बजकर 40 मिनट पर यहां मायो सड़क पहुंचीं और उन्होंने परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के निकट बैठकर धरना शुरू किया.

Youtube Video


'प्रदर्शन स्थल के निकट पार्टी नेता को जाने की अनुमति नहीं'
इस दौरान तृणमूल के किसी नेता या समर्थक को उनके पास नहीं देखा गया. इस संबंध में सवाल किए जाने पर तृणमूल के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘प्रदर्शन स्थल के निकट किसी पार्टी नेता को जाने की अनुमति नहीं हैं. वह वहां अकेली बैठी हैं.’

आयोग ने बनर्जी के केंद्रीय बलों के खिलाफ बयानों और कथित धार्मिक प्रवृत्ति वाले एक बयान के कारण 24 घंटे तक उनके चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है. वहीं ममता को अब तक सेना की पूर्वी कमान से धरना देने की अनुमति नहीं मिली है.





NOC संबंधित प्रक्रिया अभी चल रही- रक्षा प्रवक्ता

गौरतलब है कि ममता जहां धरना दे रही हैं वह क्षेत्र सेना के अधिकार क्षेत्र में आता है. News18 संवाददाता संदीप बोल ने जानकारी दी कि सेना के पूर्वी कमान को सुबह धरने को लेकर एनओसी के लिए TMC की ओर आवेदन मिला. टीएमसी ने आज के धरने के लिए कोलकाता में भारतीय सेना के ईस्टर्न कमांड से ईमेल भेजकर NOC मांगी थी. समाचार लिखे जाने तक धरने के लिए NOC देने की प्रक्रिया जारी है और सेना की ओर से अब तक इजाजत नहीं दी गई थी.

एक रक्षा अधिकारी ने कहा कि बनर्जी जहां धरना दे रही हैं, वह क्षेत्र सेना का है और तृणमूल को इस कार्यक्रम के लिए अभी तक अनुमति नहीं मिली है. रक्षा प्रवक्ता ने कहा, ‘मैं सभी को सूचित करने के लिए यह बताना चाहता हूं कि हमें अनापत्ति प्रमाण पत्र के लिए तृणमूल से आज (मंगलवार) नौ बजकर 40 मिनट पर अर्जी मिली. इससे संबंधित प्रक्रिया अभी चल रही है.’ (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज