आज कूचबिहार नहीं जा पाएंगी ममता बनर्जी, EC ने नेताओं की एंट्री पर लगाई 72 घंटे की रोक

चुनाव आयोग ने नेताओं के कूच बिहार जाने पर 72 घंटों की रोक लगा दी है. (सांकेतिक तस्वीर)

चुनाव आयोग ने नेताओं के कूच बिहार जाने पर 72 घंटों की रोक लगा दी है. (सांकेतिक तस्वीर)

West Bengal Election 2021: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार इस घटना की सीआईडी जांच कराएगी. बनर्जी ने कहा कि केंद्रीय बलों के दावे के पक्ष में कोई भी वीडियो फुटेज या अन्य कोई सबूत नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 12:00 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय चुनाव आयोग (ECI) ने शनिवार की शाम को एक बड़ा फैसला लेते हुए चुनावी राज्य पश्चिम बंगाल में नेताओं के कूचबिहार क्षेत्र का दौरा करने पर अगले 72 घंटों के लिए रोक लगा दी है. आयोग के इस फैसले के बाद किसी भी पार्टी के नेता को कूचबिहार का दौरा करने की इजाजत नहीं मिलेगी. चुनाव आयोग का ये फैसला उस समय आया है, जब टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने रविवार को कूचबिहार की सीतलकुची विधानसभा क्षेत्र का दौरा करने का ऐलान किया था. ममता इस दौरे में कथित रूप से केंद्रीय सुरक्षा बलों द्वारा की गई फायरिंग में मारे गए 4 लोगों के परिजनों से मुलाकात करने वाली थीं. खबरों के मुताबिक केंद्रीय बलों ने उस समय फायरिंग की, जब स्थानीय लोगों की भीड़ ने उन पर हमला कर दिया और कथित रूप से उनकी राइफलें छीनने की कोशिश की.

बंगाल में अब पांचवें चरण का मतदान 17 अप्रैल को होना है और चुनाव आयोग की कोशिश है कि जिले में कानून और व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रण में रखा जाए. इसके लिए चुनाव आयोग ने 'साइलेंस पीरियड' की अवधि को 48 घंटे से बढ़ाकर 72 घंटे कर दिया. आयोग के बयान के मुताबिक, "कूचबिहार जिले में शनिवार को मतदान पूरा होने के बाद किसी भी पार्टी के नेता को जिले की सीमा के अंदर अगले 72 घंटे तक जाने की अनुमति नहीं होगी." आयोग ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव, डीजीपी, डीएम और कूचबिहार जिले के एसपी को इस बारे में सभी जरूरी कदम उठाने को कहा है. उधर, तृणमूल कांग्रेस ने कूचबिहार में गोलीबारी के खिलाफ रविवार को राज्य के सभी ब्लॉक और वार्ड में प्रदर्शन करने का ऐलान किया है.

अतिरिक्त सुरक्षा बल भेजे गए कूचबिहार

दरअसल सीतलकूची विधानसभा क्षेत्र में अमताली माध्यमिक शिक्षा केंद्र पर बनाए गए बूथ नंबर 126 पर गोलीबारी की घटना शनिवार की सुबह 9:35 बजे के करीब हुई थी. ये इलाका कूचबिहार के मठभंगा पुलिस स्टेशन के दायरे में आता है. गोलीबारी में घायल हुए लोगों का स्थानीय अस्पताल में इलाज चल रहा है और अतिरिक्त केंद्रीय सुरक्षा बल कूचबिहार भेजे गए हैं, ताकि इलाके में कानून व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रित किया जा सके.
ममता कराएंगी सीआईडी जांच

दूसरी ओर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार इस घटना की सीआईडी जांच कराएगी. बनर्जी ने कहा कि केंद्रीय बलों के दावे के पक्ष में कोई भी वीडियो फुटेज या अन्य कोई सबूत नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘यह बात कहां से आयी. उनकी तरफ से कौन घायल हुआ? क्या कोई फुटेज है? लोगों की हत्या करने के बाद वे अपनी इस हरकत का बचाव कर रहे हैं.’’

गोलीबारी में चार लोगों की मौत



उन्होंने कहा, ‘‘इस घटना से जुड़ी परिस्थितियों का पता लगाने के लिए सीआईडी जांच करायी जाएगी.’’ पुलिस ने बताया कि कथित रूप स्थानीय लोगों द्वारा केंद्रीय बलों की ‘‘राइफलें छीनने का प्रयास किये जाने’’ और उन पर हमला किए जाने के बाद सुरक्षा बलों द्वारा गोलियां चलायी गयी और चार लोगों की मौत हो गयी.’’



बनर्जी ने कूचबिहार के सीतलकूची में केंद्रीय सुरक्षा बलों की कथित गोलीबारी में चार लोगों के मारे जाने की घटना के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस्तीफा मांगा. बनर्जी ने यह भी दावा किया कि चुनाव आयोग एवं केंद्रीय बलों के कामकाज में उनके हस्तक्षेप से ज्यादतियां हुईं हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज