Assembly Banner 2021

West Benagal Chunav 2021: ममता बनर्जी बोलीं- चुनाव आयोग मुझे 10 नोटिस दे सकता है, लेकिन मेरा जवाब एक ही होगा

 ममता बनर्जी (फोटो साभार-ANI)

ममता बनर्जी (फोटो साभार-ANI)

पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि चुनाव आयोग (Election Commission) चाहे तो उन्हें 10 कारण बताओ नोटिस भेज दे, लेकिन इनसे वह अपना रुख नहीं बदलेंगी.

  • Share this:
West Bengal Assembly Election: पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने गुरुवार को कहा कि वह सांप्रदायिक आधार पर मतदाताओं को बांटने के किसी भी प्रयास के खिलाफ आवाज उठाती रहेंगी. इसके लिए चुनाव आयोग (Election Commission) चाहे तो उन्हें 10 कारण बताओ नोटिस भेज दे, लेकिन इनसे वह अपना रुख नहीं बदलेंगी. ममता ने कथित रूप से मुस्लिम मतदाताओं से टीएमसी (TMC) के पक्ष में मतदान करने की अपील की थी, जिसके बाद चुनाव आयोग ने बुधवार को बनर्जी को आचार संहिता के उल्लंघन (Code of Conduct Violation) के लिये नोटिस भेजा था.

टीएमसी प्रमुख बनर्जी ने दोमजुर में चुनाव प्रचार के दौरान पूछा कि जब भाजपा के स्टार प्रचारक तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) अपने भाषणों में हिंदू और मुस्लिम वोटबैंक का जिक्र करते हैं, तो उनके खिलाफ कोई शिकायत क्यों दर्ज नहीं की जाती? बनर्जी ने कहा, 'आप (चुनाव आयोग) चाहें तो मुझे दस कारण बताओ नोटिस भेज सकते हैं, लेकिन मेरा जवाब एक ही होगा. मैं हमेशा हिंदू, मुस्लिम वोटों के विभाजन के खिलाफ बोलती रहूंगी. मैं धार्मिक आधार पर मतदाताओं को बांटने के खिलाफ खड़ी रहूंगी.'

नरेंद्र मोदी के खिलाफ शिकायत क्यों नहीं ?- ममता
मुख्यमंत्री ने कहा, 'नरेंद्र मोदी (पीएम) के खिलाफ शिकायत क्यों नहीं दर्ज की जाती? जो हर रोज हिंदू और मुस्लिम (वोटबैंक) की बात करते हैं. नंदीग्राम चुनाव के दौरान जिन लोगों ने 'मिनी पाकिस्तान' शब्द का प्रयोग किया, उनके खिलाफ कितनी शिकायतें दर्ज की गईं?'
डोमजुर की रैली के दौरान ममता बनर्जी ने राजीब बनर्जी पर भी निशाना साधा. उन्‍होंने कहा, 'मैं आपसे माफी चाहती हूं कि मैंने गद्दार मीर जाफर (राजीब बनर्जी) को पिछले चुनाव में यहां से उतारा था. जब वह सिंचाई मंत्री थे तब मुझे उनके खिलाफ शिकायत मिली थी, जिसके बाद मैंने उन्‍हें पद से हटा दिया और वन मंत्री नियुक्‍त किया.'



वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को नोटिस जारी करने को लेकर चुनाव आयोग की आलोचना करते हुए सवाल किया कि भाजपा के खिलाफ दर्ज शिकायतों पर अब तक क्या कदम उठाए गए हैं. तृणमूल कांग्रेस की प्रवक्ता महुआ मोइत्रा ने कहा कि चुनाव आयोग भेदभाव करना बंद करे.

मोइत्रा ने ट्वीट किया, 'भाजपा की शिकायत पर चुनाव आयोग ने ममता दीदी को नोटिस जारी किया. तृणमूल कांग्रेस की शिकायतों पर क्या हुआ. भाजपा उम्मीदवार द्वारा नकदी बांटने के वीडियो सबूत भी हैं. भाजपा की बैठकों में हिस्सा लेने के लिए कैश कूपन भी बांटे गए.' चुनाव आयोग ने हुगली में प्रचार के दौरान सांप्रदायिक आधार पर वोटरों से कथित तौर पर अपील करने को लेकर बनर्जी को नोटिस जारी किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज