Assembly Banner 2021

West Bengal Election 2021: ममता को चुनाव आयोग का एक और नोटिस, CRPF पर दिया था बयान

ममता बनर्जी  . (फाइल फोटो)

ममता बनर्जी . (फाइल फोटो)

सीएम ममता बनर्जी को निर्वाचन आयोग से नोटिस मिला है. इस बार आयोग की ओर से उन्हें केंद्रीय सुरक्षा बल पर टिप्पणी करने के लिए जवाब मांगा गया है.

  • Share this:
कोलकाता/नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को एक बार फिर निर्वाचन आयोग से नोटिस मिला है. इस बार आयोग की ओर से उन्हें केंद्रीय सुरक्षा बल पर टिप्पणी करने के लिए जवाब मांगा गया है. इससे पहले ममता ने कथित रूप से मुस्लिम मतदाताओं से टीएमसी के पक्ष में मतदान करने की अपील की थी, जिसके बाद चुनाव आयोग ने बुधवार को बनर्जी को आचार संहिता के उल्लंघन के लिए नोटिस भेजा था.

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने बुधवार को आरोप लगाया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इशारे पर 'भाजपा की सीआरपीएफ' राज्य के मतदाताओं को मतदान केंद्रों में प्रवेश करने से रोक रही है और उनकी जान ले रही है. ममता ने कूच बिहार जिले में यहां एक रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय बल के कर्मियों पर मौजूदा विधानसभा चुनावों के दौरान महिलाओं के साथ छेड़खानी करने और लोगों के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया.

'अत्यधिक आपत्तिजनक टिप्पणी की गई'
बंगाल की मुख्यमंत्री को कल 11 बजे तक जवाब देने के लिए कहा गया है. चुनाव आयोग ने अपने नोटिस में ममता के 28 मार्च और 7 अप्रैल (बुधवार) के उनके भाषणों का हवाला दिया, जिसमें बनर्जी ने केंद्रीय बलों पर मतदाताओं को धमकाने का आरोप लगाया. मार्च की रैली में ममता ने कहा था, 'उन्हें किसने इतनी ताकत दी कि केंद्रीय पुलिस बल महिलाओं को वोट डालने की अनुमति नहीं दे रहे. धमकी दे रहे हैं. मैंने 2019 में भी यही बात देखी थी, 2016 में मैंने यही देखा.'
बनर्जी को कूच बिहार में उनके भाषण के लिए भेजे गए नोटिस में चुनाव आयोग ने कहा है कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बलों (सीआरपीएफ) पर 'अत्यधिक आपत्तिजनक टिप्पणी' की गई थी.



सीएम ने बनेश्वर की एक रैली में कहा था, 'भाजपा की सीआरपीएफ महिलाओं को पीट रही है, लोगों को परेशान कर रही है और उनकी जान ले रही है. वे मतदाताओं को मतदान केंद्रों में प्रवेश करने और अपना वोट डालने में बाधा डाल रहे हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उन्हें ऐसा करने का निर्देश दिया है.' उन्होंने कहा, ‘‘मैंने कभी भी पुलिस को गृह मंत्री (पश्चिम बंगाल की) होने के बाद भी ऐसे आदेश नहीं दिए हैं.'

नोटिस में चुनाव आयोग ने कहा कि 'झूठे, भड़काऊ और तीखे बयान" ने केंद्रीय बलों को 'अपमानित' करने का प्रयास किया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज