Assembly Banner 2021

West Bengal Election 2021: बंगाल में न टीएमसी और न बीजेपी को मिलेगा बहुमत; लेफ्ट-कांग्रेस बनेंगे किंगमेकर- सर्वे

 (फाइल फोटो: Shutterstock)

(फाइल फोटो: Shutterstock)

West Bengal Election 2021: भारतीय जनता पार्टी (BJP) और सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कड़ी टक्कर हो सकती है. राज्य में पहले चरण के मतदान से पहले हुए सर्वे में यह बात सामने आई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 9:21 AM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Election 2021) के मद्देनजर प्रचार जारी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah), सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) अपने-अपने दलों के लिए जनता के बीच जनमत तैयार करने को लेकर पुरजोर कोशिश कर रहे हैं. इस बीच एक सर्वे में सामने आया है कि राज्य में भारतीय जनता पार्टी (BJP) और सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कड़ी टक्कर हो सकती है. राज्य में पहले चरण के मतदान से पहले हुए सर्वे में यह बात सामने आई है.

एबीपी न्यूज और सीएनएक्स के सर्वे में दावा किया गया कि कड़ी टक्कर के बाद भी दोनों में से किसी भी दल को बहुमत मिलने के आसार कम हैं. सर्वे के अनुसार 294 सीटों वाली विधानसभा में 136 से 146 सीटें टीएमसी को मिल सकती हैं तो वहीं बीजेपी को 130 से 140 सीट मिल सकती है. राज्य में सरकार बनाने के लिए 148 सीटों की जरूरत होती है.

कांग्रेस और लेफ्ट के दिन बुरे ही रहेंगे!
सर्वे में दावा किया गया है कि इन चुनावों में भी कांग्रेस और लेफ्ट के दिन बुरे ही रहेंगे. दावा किया गया है कि राज्य में कांग्रेस और लेफ्ट दोनों को मिलाकर 14 से 18 सीटें मिल सकती हैं और 1 से 3 सीटें अन्य को मिल सकती हैं. इन आंकड़ों को आधार मानें तो राज्य में किसी को बहुमत ना मिलने की दशा में कांग्रेस, लेफ्ट और आईएसएफ किंगमेकर हो सकते हैं.



राजनीतिक रूप से सबसे गर्म माने जा रहे पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में वोटिंग की जाएगी. 294 सीटों वाली विधानसभा के लिए वोटिंग 27 मार्च (30 सीट), 1 अप्रैल (30 सीट),  6 अप्रैल (31 सीट), 10 अप्रैल (44 सीट), 17 अप्रैल (45 सीट),  22 अप्रैल (43 सीट), 26 अप्रैल (36 सीट), 29 अप्रैल (35 सीट) को होगी. पश्चिम बंगाल में भी काउंटिंग 2 मई को की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज