Assembly Banner 2021

Bengal Election 2021 Phase 3 Voting: टीएमसी नेता के घर पर मिली EVM, चुनाव आयोग ने पोलिंग अधिकारी को किया सस्पेंड

TMC नेता के घर से EVM बरामद

TMC नेता के घर से EVM बरामद

West Bengal Election 3rd Phase Voting: पश्चिम बंगाल में तीसरे चरण के मतदान के दौरान मंगलवार को टीएमसी नेता के घर से ईवीएम और वीवीपैट की मशीनें मिलीं, जिसे लेकर चुनाव आयोग ने सख्त कदम उठाए हैं.

  • Share this:
उलुबेरिया (पश्चिम बंगाल). पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Voting) के लिए जारी तीसरे चरण की वोटिंग के बीच यहां उलुबेरिया में एक चौंकाने वाले घटनाक्रम के बाद चुनाव आयोग (Election Commission) फिर से राजनीतिक दलों के निशाने पर आ गया है. मिली जानकारी के अनुसार उलुबेरिया में तृणमूल कांग्रेस नेता के घर से ईवीएम और वीवीपैट मशीनें बरामद हुईं. हालांकि आयोग ने कहा कि इन मशीनों का मंगलवार को हो रहे मतदान से कोई अब कोई वास्ता नहीं है. यह मामला सामने आने के बाद भारतीय जनता पार्टी ने हंगामा किया और कार्रवाई की मांग की.

वहीं इस घटनाक्रम के सामने आने के बाद निर्वाचन आयोग ने कहा 'सेक्टर अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है. यह रिजर्व्ड ईवीएम थी, जिसे चुनाव प्रक्रिया से हटा दिया गया है. सभी के खिलाफ गंभीर कार्रवाई की जाएगी.'





एक रिश्तेदार के घर पर सो गए अधिकारी- EC
आयोग ने कहा, 'हावड़ा जिले के विधानसभा क्षेत्र 177 उलूबेरिया उत्तर में सेक्टर 17 के सेक्टर अधिकारी तपन सरकार, रिजर्व ईवीएम के साथ गए और एक रिश्तेदार के घर पर सो गए. यह चुनाव आयोग के निर्देशों का घोर उल्लंघन है, जिसके लिए उन्हें निलंबित कर दिया गया है. बड़ी सजा के लिए आरोप तय किए जाएंगे.'


पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में 31 सीटों के लिए मतदान शुरू
पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तीसरे चरण के तहत 31 सीटों के लिए मतदान मंगलवार को कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह सात बजे शुरू हो गया. अधिकारियों ने इस बारे में बताया. उन्होंने बताया कि दक्षिण 24 परगना जिले (भाग 2) में 16 सीटों, हावड़ा (भाग 1) में सात सीटों और हुगली (भाग 1) में आठ सीटों पर हो रहे मतदान में कोविड-19 की रोकथाम संबंधी नियमों का सख्ती से पालन किया जा रहा है.

सुबह साढ़े छह बजे से ही मतदान के लिए लोगों की लंबी कतारें देखी गयीं. राज्य में मंत्री आशिमा पात्रा, भाजपा नेता स्वप्न दास गुप्ता और माकपा नेता कांति गांगुली समेत 205 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं. चुनाव में 78.5 लाख से अधिक मतदाता मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे. चुनाव आयोग ने सभी विधानसभा क्षेत्रों को ‘संवेदनशील’ घोषित करते हुए सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की है.

शांतिपूर्ण मतदान के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है और केंद्रीय बलों की 618 कंपनियों को 10,871 मतदान केंद्रों की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है. महत्वपूर्ण स्थानों पर केंद्रीय बलों की मदद के लिए राज्य पुलिस बल को भी तैनात किया गया है. पश्चिम बंगाल में 294 विधानसभा सीटों के लिए आठ चरणों में मतदान हो रहा है. मतों की गणना दो मई को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज