Assembly Banner 2021

TMC से भाजपा में आए नेता को कैंडिडेट बनाने पर पार्टी में कलह, बंगाल चुनाव में प्रचार नहीं करने की धमकी

भारतीय जनता पार्टी (फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी (फाइल फोटो)

West Bengal Assembly Election: पश्चिम बंगाल की सभी 294 सीटों पर 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच विधानसभा चुनाव आठ चरणों में होंगे.

  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों के भाजपा कार्यकर्ताओं का यहां पार्टी के प्रदेश चुनाव कार्यालय के बाहर मंगलवार को भी प्रदर्शन जारी रहा जिससे पार्टी के पुराने एवं नए कार्यकर्ताओं के बीच मतभेद खुलकर सामने आ गया है. केनिंग वेस्ट, मगराहट, कुलटली, जोयनगर और बिष्णुपुर के भाजपा कार्यकर्ता सुबह से यहां हस्टिंग कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं. उनके बीच अक्सर झड़प भी हो जा रही है और पुलिस को दखल देना पड़ रहा है.

केनिंग वेस्ट के एक भाजपा कार्यकर्ता ने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि केनिंग वेस्ट सीट से अर्णब रॉय की उम्मीदवारी तत्काल वापस हो. वह बस पांच दिन पहले ही तृणमूल से भाजपा में शामिल हुए और उन्हें नामांकन दे दिया गया.’’ प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार में शामिल रहे तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को भाजपा ने टिकट दे दिया.

लंबे समय से भाजपा के कार्यकर्ता रहे मगराहट के रोनी मन्ना ने कहा, ‘‘यदि उम्मीदवार तत्काल वापस नहीं लिए जाते हैं, हम यूं ही बैठे रहेंगे और पार्टी का चुनाव प्रचार नहीं करेंगे.’’ कुछ प्रदर्शनकारियों ने मुख्य द्वार से बैरीकेड हटाने और कार्यालय परिसर में दाखिल होने का प्रयास किया तब पुलिस को दखल देना पड़ा.

भाजपा के चुनाव कार्यालय एवं राज्य के अलग अलग हिस्सों में प्रदर्शन रविवार शाम से जारी है जब पार्टी ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के तीसरे और चौथे चरण के लिए 63 उम्मीदवारों की दूसरी सूची की घोषणा की.


गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की सभी 294 सीटों पर 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच विधानसभा चुनाव आठ चरणों में होंगे. पश्चिम बंगाल में चुनाव 27 मार्च, एक अप्रैल, छह अप्रैल, दस अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को होंगे, जबकि मतों की गिनती दो मई को होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज