Assembly Banner 2021

बंगाल चुनाव: नंदीग्राम से BJP कैंडिडेट शुभेंदु अधिकारी पर आफत, TMC ने की नामांकन रद्द करने की मांग

बंगाल के नंदीग्राम से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी शुवेंदु अधिकारी.

बंगाल के नंदीग्राम से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी शुवेंदु अधिकारी.

West Bengal Assembly Election: पश्चिम बंगाल की सभी 294 सीटों पर 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच विधानसभा चुनाव आठ चरणों में होंगे.

  • Share this:

कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ नंदीग्राम सीट पर चुनाव लड़ रहे भाजपा उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी का नामांकन रद्द करने की बुधवार को मांग की. पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ दल ने आरोप लगाया है कि शुभेंदु का नाम हल्दिया विधानसभा क्षेत्र की मतदाता सूची में भी नजर आ रहा है.


कभी ममता के करीबी सहयोगी रहे अधिकारी द्वारा नंदीग्राम सीट से तृणमूल कांग्रेस प्रमुख का नामांकन रद्द करने की मांग किये जाने के महज कुछ दिनों बाद यह घटनाक्रम हुआ है. तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन ने नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र के मतदाता पंजीकरण अधिकारी (ईआरओ) को लिखे एक पत्र में आरोप लगाया है कि अधिकारी का नाम नंदीग्राम और हल्दिया, दोनों विधानसभा क्षेत्रों की मतदाता सूची में नजर आ रहा है.


उन्होंने कहा कि जन प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 17 के मुताबिक इसकी अनुमति नहीं है. यह धारा इस बात का जिक्र करती है कि किसी भी व्यक्ति का नाम एक से अधिक निर्वाचन क्षेत्र में पंजीकृत नहीं हो सकता है. ब्रायन ने कहा कि ऐसा लगता है कि अधिकारी ने अपने आवास के बारे में फर्जी जानकारी मुहैया कर अपने नाम का स्थानांतरण हल्दिया विधानसभा क्षेत्र से नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में करने के लिए एक अर्जी दी थी.


उन्होंने दावा किया कि इसकी पुष्टि इस बात से होती है कि जब बूथ स्तरीय अधिकारी (बीएलओ) सत्यापन करने के लिए क्षेत्र में (शुभेंदु अधिकारी के पते पर) पर गये थे, उस वक्त वह (अधिकारी) अनुपस्थित पाये गये थे. तृणमूल कांग्रेस सांसद ने दावा किया कि अधिकारी पिछले छह महीने से अधिक समय से नंदनायकबार गांव के निवासी नहीं थे, जो नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में पड़ता है.



उन्होंने मतदाता पंजीकरण अधिकारी से नंदीग्राम सीट की मतदाता सूची से शुभेंदु का नाम हटाने और उनके खिलाफ आपराधिक कार्रवाई सहित उचित कार्रवाई करने का अनुरोध किया. उन्होंने मांग की, ‘‘नंदीग्राम सीट से दाखिल किया गया अधिकारी का नामांकन पत्र भी रद्द किया जाए.’’


गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की सभी 294 सीटों पर 27 मार्च से 29 अप्रैल के बीच विधानसभा चुनाव आठ चरणों में होना है. पश्चिम बंगाल में चुनाव 27 मार्च, एक अप्रैल, छह अप्रैल, दस अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को होंगे, जबकि मतों की गिनती दो मई को होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज