अपना शहर चुनें

States

पश्चिम बंगाल चुनाव: राज्यपाल ने कहा- राजनीति में शामिल अधिकारियों को नतीजे भुगतने होंगे

कुछ दिनों पहले राज्यपाल 
जगदीप धनखड़ ने राज्य की जनता से निष्पक्ष रूप से चुनाव पूरे किए जाने का वादा किया था. (फाइल फोटो: Shutterstock)
कुछ दिनों पहले राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने राज्य की जनता से निष्पक्ष रूप से चुनाव पूरे किए जाने का वादा किया था. (फाइल फोटो: Shutterstock)

West Bengal Elections 2021: जगदीप धनखड़ ने ट्वीट किया, ‘लोकतंत्र की आत्मा होने के नाते चुनाव की निष्पक्षता अनिवार्य है. इसलिए पुलिस और प्रशासन को राजनीतिक रूप से तटस्थ रहना चाहिए एवं उसे अपना राजनीतिक रूझान एवं रूख त्याग देना चाहिए.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 31, 2021, 7:13 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) ने रविवार को कहा कि पुलिस और प्रशासन को राज्य में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव (Free and Fair Election) कराने के लिए राजनीतिक रूप से तटस्थ (Neutral) होना चाहिए. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि जो अधिकारी राजनीतिक गतिविधियों में शामिल हैं, उन्हें परिणाम भुगतान होगा. उन्होंने इस ट्वीट में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee), पुलिस और गृह विभाग को टैग किया.

धनखड़ ने ट्वीट किया, ‘लोकतंत्र (Democracy) की आत्मा होने के नाते चुनाव की निष्पक्षता अनिवार्य है. इसलिए पुलिस और प्रशासन को राजनीतिक रूप से तटस्थ रहना चाहिए एवं उसे अपना राजनीतिक रूझान एवं रूख त्याग देना चाहिए.’ राज्यपाल ने लिखा, ‘पुलिस की राजनीतिक गतिविधि संबंधी चौंकाने वाली सूचना चिंताजनक है तथा कानून ऐसे भटकाव में शामिल लोगों में किसी को भी नहीं बख्शेगा.’ राज्य में इस साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं.

उन्होंने लिखा, ‘मिसाल कायम करने वाले परिणाम सामने आयेंगे. इस बात की इजाजत नहीं दी जा सकती है कि कानून की अवहेलना करने वालों द्वारा लोकतांत्रिक प्रक्रिया मैली की जाए. ’ धनखड़ ने कई बार आरोप लगाया है कि पुलिस और सरकारी अधिकारियों का एक वर्ग राजनीतिक कार्यकर्ता की भांति बर्ताव कर रहे हैं. उन्होंने उनसे ऐसा करने से बाज आने का आह्वान किया है.



यह भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल: राम मंदिर के लिए राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने दी आर्थिक मदद, दान किए 5 लाख रुपए
जनता से किया था निष्पक्ष चुनाव का वादा
कुछ दिनों पहले राज्यपाल धनखड़ ने राज्य की जनता से निष्पक्ष रूप से चुनाव पूरे किए जाने का वादा किया था. नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर उन्होंने कहा 'मैं पश्चिम बंगाल के लोगों को यह भरोसा दिलाता हूं कि राज्य में हिंसा मुक्त और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए हर कदम उठाया जाएगा.' इस दौरान उन्होंने राजभवन में बोस की मूर्ति का अनावरण किया था.

हालांकि, इससे पहले भी राज्यपाल और राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के बीच जुबानी जंग चलती रहती है. पार्टी के सदस्यों ने कई बार आरोप लगाया है कि राज्यपाल का झुकाव भारतीय जनता पार्टी की ओर ज्यादा है.

(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज