बंगाल चुनाव: पीएम मोदी ने की राजनीतिक हिंसा में जान गंवाने वाले कार्यकर्ताओं के परिवार से मुलाकात

बंगाल में राजनीतिक हिंसा में जान गंवाने वाले कार्यकर्ताओं के परिवार से मिले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

बंगाल में राजनीतिक हिंसा में जान गंवाने वाले कार्यकर्ताओं के परिवार से मिले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

West Bengal Election 2021: 26 जून 2019 को कांकिनारा बाजार में गोलीकांड हुआ था. इस गोलीकांड में साव परिवार को दो सदस्यों- 35 वर्षीय धर्मवीर साव और 20 साल के रामबाबू साव की मौत हो गई थी. इसके अलावा गोलीबारी में 5 अन्य लोग घायल भी हो गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 17, 2021, 6:39 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) बंगाल में 2 रैलियां कर रहे हैं. खबर है कि उन्होंने इन कार्यक्रमों में सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के पालन को सुनिश्चित किया है. इन्हीं तैयारियों के चलते कार्यक्रम स्थल पर कुर्सियों को दूरी पर रखा गया है. इसके अलावा लोगों को मास्क भी वितरित किए गए हैं. खास बात है कि आसनसोल में उन्होंने राजनितिक हिंसा के चलते मरने वाले लोगों को श्रद्धांजलि दी. साथ ही उन्होंने मारे गए कार्यकर्ताओं के परिजनों से मुलाकात की है.

इन परिवारों से मिले पीएम मोदी

26 जून 2019 को कांकिनारा बाजार में गोलीकांड हुआ था. इस गोलीकांड में साव परिवार को दो सदस्यों- 35 वर्षीय धर्मवीर साव और 20 साल के रामबाबू साव की मौत हो गई थी. इसके अलावा गोलीबारी में 5 अन्य लोग घायल भी हो गए थे. उस दौरान आरोप सत्तारूढ़ दल तृणमूल कांग्रेस पर लगे थे. बताया गया है कि जिस वक्त रामवीर को गोली लगी, उस दौरान वो करीब 50 मीटर की दूरी पर खरीदारी कर रहा था. वहीं, धर्मवीर करीब 100 मीटर की दूरी से गुजर रहा था. इससे ठीक एक महीना पहले यानि 26 मई 2019 को बीजेपी कार्यकर्ता चंदन साव को गोली मार दी गई थी. कहा जा रहा था कि यह हमला टीएमसी कार्यकर्ताओं ने किया था.

इसके अलावा 22 मई 2019 को भी घटी एक घटना में राजेश साव का कत्ल हो गया था. कहा जा रहा था कि धर्म विशेष के लोगों ने पुलिस की वर्दी का सहारा लेकर उन्हें गोली मार दी थी. चश्मदीद बताते हैं कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी की मदद करने के चलते साव पर यह हमला हुआ था. बीते साल 15 मई को दो सगे भाई अनूप औऱ सुशांतो मंडल गोलीबारी का शिकार हो गए थे. इस घटना के आरोप पुलिस पर लगे थे. घटना में बड़े भाई को 4 और छोटे भाई की सीने में 8 गोलियां मारी गई थीं. बीते साल 12 दिसंबर को सैकत बवाल कार्यक्रम के तहत प्रचार कर रहे थे. इस दौरान उनपर हमला हुआ था. बताया जाता है कि उनपर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने धारदार हथियारों से हमला किया था.


24 साल के लाला लाला चौधरी की बड़े निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई थी. उनके गुप्तांग को काटकर रेलगाड़ी में रख दिया गया था. खास बात है कि बीजेपी राज्य में प्रचार के दौरान लगातार पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर रही है. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी जान गंवाने वाले कार्यकर्ताओं के परिवारों से मुलाकात कर चुके हैं. 294 सीटों वाले पश्चिम बंगाल में शनिवार को 5वें चरण का मतदान जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज