पश्चिम बंगाल : गंगासागर मेले में भगदड़ मचने से 6 महिलाओं की मौत, कई घायल

Photo : ANI
Photo : ANI

पश्चिम बंगाल के गंगासागर मेले में मकर संक्रांति के मौके पर रविवार शाम को भगदड़ मचने से 6 श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हो गए.

  • Pradesh18
  • Last Updated: January 15, 2017, 9:15 PM IST
  • Share this:
पश्चिम बंगाल के गंगासागर में मकर संक्रांति मेले के बाद श्रद्धालुओं के अपने-अपने घर लौटते वक्त रविवार शाम को भगदड़ मचने से 6 श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हो गए. मृतकों में सभी महिलाएं हैं.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, गंगासागर मेले में आने वाले तीर्थयात्रियों की पश्चिम बंगाल के कोचूबेरिया घाट पर मची भगदड़ में छह लोगो की मौत हो गई और दर्जनों लोगों के घायल होने की खबर है. सभी घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं भगदड़ की चपेट में आने से गंगासागर से टीएमसी विधायक बंकिम हाजरा के घायल होने की भी खबर हैं. उन्हें अस्पताल में दाखिल कराया गया है.

जहाज पर सवार होने की होड़ में हादसा


बताया जा रहा है कि गंगासागर मेले से घर लौटने की कोशिश में कचुबेरिया में एक जहाज पर चढ़ने की कोशिश कर रही एक भीड़ में भगदड़ मचने से यह हादसा हुआ.
राज्य के सुंदरबन विकास मंत्री मंतूराम पाखिरा ने फोन कहा, "कचुबेरिया अस्थायी अस्पताल में छह उम्रदराज महिलाओं की हृदयाघात के कारण मौत हो गई. सभी महिलाएं दम घुटने के कारण बेहोश हो गई थीं."



मंतूराम ने कहा, "यह दुर्घटना तब घटी, जब कचुबेरी में जहाज संख्या पांच पर सवार होने के लिए लगी लंबी कतार के कारण तीर्थयात्री बेचैन हो गए और उन्होंने जहाज पर चढ़ने के लिए दूसरों को धक्का देकर आगे निकलने की कोशिश की."

ज्ञात हो कि मकर संक्रांति के अवसर पर वार्षिक गंगा सागर मेला के दौरान शनिवार को देश-विदेश से आए 16 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने गंगा नदी में आस्था की पवित्र डुबकी लगाई थी.




गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से 150 किलोमीटर दक्षिण 24 परगना जिले में स्थित सागर द्वीप को हिंदू शुभ व पवित्र मानते हैं, जो साल में इस अवसर पर गंगा और बंगाल की खाड़ी के संगम में स्नान करने के लिए एकत्र होते हैं और कपिल मुनि मंदिर में प्रार्थना कर नारियल चढ़ाते हैं.

कुंभ मेला के बाद गंगा सागर दूसरा सबसे बड़ा मेला माना जाता है. श्रद्धालु मानते हैं कि इसके पवित्र जल में स्नान करने से जीवनभर के पाप धुल जाते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज