बंगाल के गवर्नर ने लगाया आरोप, मौत के असली आंकड़े छिपा रही ममता सरकार

बंगाल के गवर्नर ने लगाया आरोप, मौत के असली आंकड़े छिपा रही ममता सरकार
राज्‍यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता सरकार पर साधा निशाना

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के राज्यपाल (Governor) जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) ने ममता बनर्जी सरकार (Mamata Banerjee Government) पर आरोप लगाते हुए पूछा है कि सरकार असली मौतों का आंकड़ा छिपाना (actual number of deaths) क्यों चाहती है?

  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के राज्यपाल (Governor) जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) ने एक बार फिर से ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के नेतृत्व वाली पश्चिम बंगाल सरकार (West Bengal Government) पर कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) से हुई मौतों के असली आंकड़े छिपाने और केंद्र सरकार की अंतर मंत्रालयी टीम (ICMT) से बुरा व्यवहार करने का आरोप लगाया है.

उन्होंने ममता बनर्जी सरकार (Mamata Banerjee Government) पर आरोप लगाते हुए पूछा कि सरकार असली मौतों का आंकड़ा छिपाना (actual number of deaths) क्यों चाहती है, जबकि जब लोगों को परिस्थितियों के गंभीर होने का अहसास होगा तो वे ज्यादा एहतियात बरतेंगे.

ICMT का होना चाहिए था रेड कार्पेट स्वागत, उन्हें सिर्फ पश्चिम बंगाल में हुई परेशानी
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा है, "पश्चिम बंगाल एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां केंद्रीय अंतरमंत्रालयी टीम (IMCT) को अपना काम करने में समस्याओं का सामना करना पड़ा. जब पूरा देश COVID19 से लड़ाई कर रहा है और IMCT परिस्थितियों का जायजा लेने आई थी, हमें इसका 'रेड कार्पेट' पर स्वागत करना चाहिए था."
उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार (State Government) के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में COVID-19 के चलते 105 लोगों की मौत हो चुकी है लेकिन यह संख्या इससे ज्यादा है. हम असली मौतों की संख्या क्यों छिपाना चाहते हैं? लोग ज्यादा एहतियात बरतेंगे, जब उन्हें परिस्थितियों के गंभीर होने का अहसास होगा.





राज्यपाल ने कहा, 'ममता बनर्जी मांगें माफी'
बता दें कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और ममता बनर्जी सरकार में लंबे समय से तनातनी रही है और इससे पहले भी कई बार राज्यपाल, ममता बनर्जी सरकार (Mamata Banerjee Government) पर उन्हें लेकर प्रोटोकॉल (Protocol) का पालन न किये जाने का आरोप लगा चुके हैं.

राज्यपाल धनखड़ ने यह भी कहा कि वाम दलों (Left Parties) के साथ विपक्षी दलों में ने भी सरकार की कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ाई में अपना समर्थन दिया है. मुख्यमंत्री इतने कठिन समय में कैसे कह सकती हैं कि राजनीतिक दल मौतों के इंतजार में बैठे गिद्धों की तरह हैं. उसे माफी मांगनी चाहिए और अपना बयान वापस लेना चाहिए.

यह भी पढ़ें: सरकार ने दिए 60,884 वेंटिलेटर और 2.22 करोड़ PPE के ऑर्डर, जानें 10 खास बातें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज