बंगाल के राज्‍यपाल जगदीप धनखड़ बोले- राज्‍य में गवर्नेंस की स्थिति के लेकर चिंतित हूं

राज्‍यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी पर निशाना साधा है. (ANI)
राज्‍यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता बनर्जी पर निशाना साधा है. (ANI)

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के राज्‍यपाल जगदीप धनखड़ (Governor Jagdeep Dhankhar) ने कहा, 'मैंने सरकार से बार-बार कहा कि लोक सेवक राजनीतिक कार्यकर्ता नहीं हो सकते. अगर वे ऐसा हो जाते हैं तो लोकतंत्र का भाग्‍य कैद हो जाता है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 11:05 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के हालात और कानून व्‍यवस्‍था को लेकर राज्‍यपाल जगदीप धनखड़ (Governor Jagdeep Dhankhar) ने मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी पर फिर हमला बोला है. जगदीप धनखड़ ने कहा, 'मैं पश्चिम बंगाल में शासन की स्थिति को लेकर चिंतित हूं, जो संविधान और कानून के शासन से दूर हो रही है. मैं नहीं चाहता कि राज्‍य के लोग उम्‍मीद खो दें कि यहां स्‍वतंत्र और निष्‍पक्ष चुनाव नहीं हो सकते.' जगदीप धनखड़ ने आगे कहा, 'मैंने सरकार से बार-बार कहा कि लोक सेवक राजनीतिक कार्यकर्ता नहीं हो सकते. अगर वे ऐसा हो जाते हैं तो लोकतंत्र का भाग्‍य कैद हो जाता है. मैंने वरिष्ठ आईपीएस और आईएएस अधिकारियों को चेतावनी दी है कि वे अपनी राजनैतिक टोपी छोड़ दें और राजनीतिक के सिपाही ना बनें.'

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल महीने भर के दार्जिलिंग दौरे के लिए रवाना
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ एक नवम्बर से शुरू होने वाले दार्जिलिंग के अपने महीने भर के दौरे के लिए उत्तर बंगाल रवाना हो गए हैं. धनखड़ ने कहा कि वह लोगों और प्रशासन से जुड़ेंगे और 'लोगों की उम्मीदों को पूरा करने' की दिशा में काम करेंगे. उन्होंने शनिवार को ट्वीट किया, 'उत्तर बंगाल के लोगों के साथ जुड़ने और उनकी उम्मीदों को पूरा करने की दिशा में काम करने के लिए ट्रेन में हूं. इस व्यापक यात्रा, पर्यटन, आर्थिक, शैक्षिक क्षमता का उपयोग करने से लोगों के जीवन में सुधार होगा.' एक अन्य ट्वीट में, राज्यपाल ने कहा कि वह मालदा स्टेशन पर पहुंच गये हैं और भाजपा के मालदा उत्तर से सांसद खगेन मुर्मू के नेतृत्व में स्थानीय लोगों की गर्मजोशी भरी प्रतिक्रिया से अभिभूत है.

ये भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल चुनाव में TMC और बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस से हाथ मिलाएगी माकपा
ये भी पढ़ें: चीन मुद्दे पर राजनाथ सिंह का कांग्रेस को जवाब, 'मैं खुलासा कर दूं तो चेहरा दिखाना मुश्किल हो जाएगा'



धनखड़ ने मालदा स्टेशन पर पत्रकारों से कहा, 'मैं देश से बाहर नहीं जा रहा हूं. दार्जिलिंग राज्य का एक हिस्सा है. मैं चाय बागान श्रमिकों, राजनेताओं से लेकर बुद्धिजीवियों तक समाज के हर वर्ग के लोगों से मिलना चाहता हूं. उत्तर बंगाल की सभी समस्याओं का समाधान किया जा सकता है. इस क्षेत्र में विकास की काफी संभावनाएं हैं.' इससे पूर्व एक बयान में राजभवन ने कहा था कि धनखड़ एक से 30 नवम्बर तक दार्जिलिंग के दौरे पर रहेंगे. वह रविवार को सिलीगुड़ी में एक संवाददता सम्मेलन को भी संबोधित करने वाले हैं.

राज्यपाल ने गुरुवारको केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की थी और ‘‘राज्य के मामलों और स्थिति’’ पर चर्चा की थी. इस बीच उत्तर बंगाल से तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘धनखड़ कभी भी राज्य के किसी भी हिस्से में जा सकते हैं लेकिन हमें नहीं लगता कि यह एक नियमित यात्रा है. हम इसके उद्देश्य के बारे में आशंकित हैं.’’ भाजपा ने हालांकि राज्यपाल के समर्थन में आते हुए कहा कि धनखड़ को पश्चिम बंगाल के किसी भी हिस्से में राज्य के संवैधानिक प्रमुख के रूप में जाने का अधिकार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज