ममता और नुसरत की मौजूदगी से रथयात्रा बनी चर्चा की बात लेकिन यह सवाल उठा!

हर साल जगन्नाथ मंदिर में भगवान जगन्नाथ के साथ उनके भाई बलभद्र, बहन सुभद्रा की रथयात्रा का आयोजन किया जाता है.

News18Hindi
Updated: July 4, 2019, 11:46 PM IST
ममता और नुसरत की मौजूदगी से रथयात्रा बनी चर्चा की बात लेकिन यह सवाल उठा!
रथयात्रा में मौजूद सीएम ममता बनर्जी और एमपी नुसरत जहां
News18Hindi
Updated: July 4, 2019, 11:46 PM IST
पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकाली गई. इस दौरान रथ यात्रा में पहली बार पहुंची राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां मौजूद थीं. हालांकि यह अचरज में डालने वाला है कि एक ओर जहां नुसरत की मौजूदगी ने सुर्खियां बटोरीं, वहीं इसके अलावा कोई और मुस्लिम नेता मंच पर नहीं नजर आया.

बता दें इसी रथ समारोह से 200 मीटर दूर आरमबाग की सांसद अपरूपा पोद्दार के पति और टीएमसी सांसद साकिप अली और रिसड़ा म्युनिसिपालिटी के वाइस चेयरमैन जाहिद हसन खान मौजूद थे जिन्होंने बीच सड़क पर गाड़ी रुकवाई. इसके बाद पास ही स्थित मस्जिद के मौलाना से ममता की मुलाकात करवाई. हालांकि रथयात्रा के मंच पर ये दोनों नेता नहीं दिखे.

इसी दौरान रथयात्रा में ममता से महज 50 मीटर दूर कुछ लोगों ने जय श्री राम के नारे लगाए. नारे लगाने वालों को पुलिस ने धक्के मारकर खदेड़ दिया.  बता दें ओडिशा की तीर्थ नगरी पुरी में भगवान जगन्नाथ की विश्वप्रसिद्ध रथ यात्रा शुरू हुई.



क्या है यह यात्रा

हर साल जगन्नाथ मंदिर में भगवान जगन्नाथ के साथ उनके भाई बलभद्र, बहन सुभद्रा की रथयात्रा का आयोजन किया जाता है. रथयात्रा में भाग लेने के लिए दुनियाभर से श्रद्धालु पुरी पहुंच चुके हैं. पुरी के साथ-साथ देश के अन्य हिस्सों में भी प्रतीकात्मक रूप से रथयात्रा का आयोजन किया जाता है.

यह भी पढ़ें: TMC सांसद महुआ मोइत्रा का भाषण चोरी के आरोपों पर तीखा पलटवार
Loading...

क्या है इस यात्रा का महत्व

इस यात्रा का बड़ा धार्मिक महत्व है. हर साल भगवान जगन्नाथ एक सप्ताह के लिए अपनी मौसी के घर रवाना होते हैं, जिसे रथ यात्रा के तौर पर मनाया जाता है. भगवान जगन्नाथ की मौसी का घर गुंडिचा देवी का मंदिर है. यात्रा की तैयारी सुबह से ही शुरू हो जाती है और दिनभर कई रीति-रिवाज संपन्न होते हैं. इसके बाद शाम चार बजे रथ खींचने का काम शुरू होता है.

पुरी की तरह ही कोलकाता में भी इस यात्रा का आयोजन होता है. इस बार कोलकाता की यात्रा नुसरत जहां और ममता बनर्जी की मौजूदगी के चलते चर्चा का विषय बनी.  नुसरत जहां ने ट्वीट कर रथ यात्रा में शामिल होने की जानकारी दी थी. नुसरत ने कहा था कि उन्हें कोलकाता इस्कॉन टेंपल की तरफ से जगन्नाथ रथयात्रा में शामिल होने का न्योता मिला है, वो पुरी जरूर जाएंगी. ये उनके लिए सौभाग्य की बात है.

यह भी पढ़ें:  ममता का ऐलान, नौकरियों में सवर्णों को मिलेगा 10 फीसदी आरक्षण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 11:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...