Home /News /nation /

Climate Change : 2030 तक कोलकाता में चलेंगे केवल ई-वाहन, बंगाल में सालों से तैयार हो रहे ईको-फ्रेंडली शहर

Climate Change : 2030 तक कोलकाता में चलेंगे केवल ई-वाहन, बंगाल में सालों से तैयार हो रहे ईको-फ्रेंडली शहर

पश्चिम बंगाल में सरकार राजधानी कोलकाता, विधाननगर, राजरहाट और न्यू टाउन को ईको-फ्रेंडली शहर बनाने के प्रयास कर रही है. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

पश्चिम बंगाल में सरकार राजधानी कोलकाता, विधाननगर, राजरहाट और न्यू टाउन को ईको-फ्रेंडली शहर बनाने के प्रयास कर रही है. (सांकेतिक तस्वीर: Shutterstock)

West Bengal Eco-Friendly Cities: कोलकाता में आने वाले दिनों में CESC की मदद से इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन अलग-अलग स्थानों पर तैयार किए जाएंगा, जहां इलेक्ट्रिक वाहन चार्ज हो सकेंगे. हाकिम ने कहा था कि आगामी दिनों में कोलकाता और न्यू टाउन को पश्चिम बंगाल के अन्य शहरों के लिए मॉडल शहर के तौर पर भी तैयार करने की योजना बनाई गई है. बंगाल चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (BCCI) के शीर्ष अधिकारियों ने कहा है कि वे राज्य को भविष्य में हर संभव मदद देने के लिए तैयार हैं.

अधिक पढ़ें ...

    कोलकाता. दुनियाभर में जलवायु परिवर्तन (Climate Change) को लेकर चिंता और बहस जारी है. इसी के चलते पश्चिम बंगाल में भी प्राकृतिक चुनौती से निपटने के प्रयास जारी हैं. राज्य के कई शहरों को काफी सालों से ईको-फ्रेंडली ग्रीन सिटी (Eco-Friendly Green City) बनाने की कोशिश की जा रही है. हाल ही में राज्य के परिवहन मंत्री फिरहाद हाकिम (Firhad Hakim) ने भी इस मुद्दे पर बात की थी. विश्व के कई देश ईको-फ्रेंडली ग्रीन सिटी तैयार करने पर विचार कर रहे हैं.

    पश्चिम बंगाल सरकार राजधानी कोलकाता, विधाननगर, राजरहाट और न्यू टाउन को ईको-फ्रेंडली शहर बनाने के प्रयास कर रही है. एक कार्यक्रम के दौरान हाकिम ने बताया था कि साल 2030 तक कोलकाता में सीएनजी और ई-वाहन ही होंगे. उन्होंने कहा था, ‘2011 से राज्य में स्मार्ट सिटी, एक ग्रीन सिटी बनाने की योजना तैयार की गई है. शहर में पहले ही ईको-फ्रेंडली ट्राम और अंडरग्राउंड मेट्रो है. तेज रफ्तार वाहन और इलेक्ट्रिक बसों को लॉन्च करने की योजना है.’

    यह भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल बीजेपी में भगदड़ जारी, अब श्रबंती चटर्जी ने पार्टी को कहा बाय-बाय

    उन्होंने आगे कहा, ‘कोलकाता में पहले ही 300 सरकारी बसों को सीएनजी में बदल दिया गया है. 1000 से ज्यादा सीएनजी बसों को जल्द ही लॉन्च किया जाएगा.’ राज्य के न्यू टाउन की पहले ही ग्रीन सिटी के तौर पर पहचान की गई है. वहीं, प्रदेश सरकार भी पूरे न्यू टाउन को पर्यावरण के लिहाज से बेहतर बनाने के लिए पूरे प्रयास कर रही है. यहां सोलर पैनल, अलग से साइकिल ट्रैक, पब्लिक बाइसिकल शेयरिंग सिस्टम, ग्रीन बिल्डिंग्स, इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन तैयार किए जा चुके हैं.

    कोलकाता में आने वाले दिनों में CESC की मदद से इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन अलग-अलग स्थानों पर तैयार किए जाएंगा, जहां इलेक्ट्रिक वाहन चार्ज हो सकेंगे. हाकिम ने कहा था कि आगामी दिनों में कोलकाता और न्यू टाउन को पश्चिम बंगाल के अन्य शहरों के लिए मॉडल शहर के तौर पर भी तैयार करने की योजना बनाई गई है. बंगाल चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (BCCI) के शीर्ष अधिकारियों ने कहा है कि वे राज्य को भविष्य में हर संभव मदद देने के लिए तैयार हैं.

    Tags: Climate Change, Eco-Friendly Cities, Firhad Hakim, Kolkata, West bengal

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर