होम /न्यूज /राष्ट्र /पश्चिम बंगाल: पीएसी की पहली बैठक से नदारद रहे अध्यक्ष मुकुल रॉय पर बरसे शुभेंदू अधिकारी, TMC ने किया पलटवार

पश्चिम बंगाल: पीएसी की पहली बैठक से नदारद रहे अध्यक्ष मुकुल रॉय पर बरसे शुभेंदू अधिकारी, TMC ने किया पलटवार

मुकुल रॉय के बयान पर विवाद. (फाइल फोटो-ANI)

मुकुल रॉय के बयान पर विवाद. (फाइल फोटो-ANI)

West Bengal PAC Meeting Mukul Roy: नेता प्रतिपक्ष शुभेंदू अधिकारी ने कहा, 'मुकुल रॉय को सभी नियमों का उल्लंघन करते हुए ...अधिक पढ़ें

    कोलकाता. राज्य के विधानसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर जीत हासिल कर तृणमूल कांग्रेस का दामन थामने वाले लोक लेखा समिति (पीएसी) के नवनियुक्त अध्यक्ष मुकुल रॉय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ दिल्ली में होने के कारण शुक्रवार को हुई समिति की पहली बैठक से नदारद रहे. पश्चिम बंगाल विधानसभा के अध्यक्ष बिमान बोस ने हाल में रॉय को विधानसभा की लोक लेखा समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया था.

    रॉय ने विधानसभा अध्यक्ष को लिखे पत्र में कहा कि वह पीएसी की बैठक में शरीक नहीं हो पाएंगे. ऐसे में तृणमूल कांग्रेस के विधायक तापस रॉय ने बैठक की अध्यक्षता की. रॉय की पीएसी में नियुक्ति के विरोध में आठ अन्य विधानसभा समितियों के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले भाजपा विधायकों ने बैठक का बहिष्कार किया.

    ममता का बड़ा ऐलान, हर दूसरे महीने आएंगी दिल्ली, 2024 के लिए दिया नारा

    " isDesktop="true" id="3676047" >

    नेता प्रतिपक्ष शुभेंदू अधिकारी ने कहा, ‘इस व्यक्ति (रॉय) को सभी नियमों का उल्लंघन करते हुए पीएसी अध्यक्ष बनाया गया और देखें कि वह पद को लेकर कितने गंभीर हैं. अध्यक्ष खुद पीएसी की पहली बैठक से अनुपस्थित रहे. यह मुकुल रॉय और सत्ताधारी पार्टी का असली रंग दिखाता है.’ रॉय का बचाव करते हुए, टीएमसी नेतृत्व ने कहा कि ऐसा कोई नियम नहीं है, जो आपात स्थितियों के चलते मौजूद नहीं होने पर पीएसी की बैठक के दौरान अध्यक्ष की उपस्थिति को अनिवार्य बनाता हो.

    क्या विपक्षी गोलबंदी के केंद्र में हैं लालू? जानें कैसे मोदी-योगी के खिलाफ बन रहे सियासी समीकरण

    कृष्णानगर उत्तर से आधिकारिक तौर पर भाजपा विधायक मुकुल रॉय पिछले महीने टीएमसी में शामिल हुए थे. भाजपा ने उन्हें विधायकी से इस्तीफा देने के लिये कहा, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. टीएमसी नेता रॉय को लोक लेखा समिति के 20 सदस्यों के बीच से अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

    नंदीग्राम से भाजपा विधायक अधिकारी ने कहा, ‘हमने छह विधायकों के नाम का प्रस्ताव रखा था. भाजपा ने कभी भी मुकुल रॉय के नाम की सिफारिश नहीं की. वह हाल में सार्वजनिक रूप से टीएमसी में शामिल हुए थे, लेकिन इसपर ध्यान नहीं दिया गया.’ अधिकारी ने कहा कि उनकी पार्टी चाहती है कि प्रख्यात अर्थशास्त्री व विधायक अशोक लाहिड़ी समिति का नेतृत्व करें. उन्होंने कहा, ‘यह भ्रष्ट टीएमसी सरकार अपने चाटुकारों को शीर्ष पद के लिए चुने जाने के तरीके ढूंढती है.

    Tags: BJP, Mukul Roy, Suvendu Adhikari, TMC, West bengal

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें