लाइव टीवी

'कमल के फूल' से चिढ़ी तृणमूल, स्कूली बच्चों के यूनिफॉर्म से हटाया जाएगा सिंबल

News18Hindi
Updated: February 18, 2020, 11:39 PM IST
'कमल के फूल' से चिढ़ी तृणमूल, स्कूली बच्चों के यूनिफॉर्म से हटाया जाएगा सिंबल
स्कूली ड्रेस पर कमल के लोगो का विरोध तृणमूल के नेता कर रहे हैं. फोटो. एएनआई

BJP के विरोध के कारण तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) के समर्थकों का निशाना बनी है स्कूली बच्चों की यूनिफॉर्म. पश्चिम बंगाल के 24 परगना (24 Pargana) स्कूल में बच्चों की यूनिफॉर्म (School Uniform) पर कमल के फूल पर कुछ लोगों ने ऐतराज जताया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 18, 2020, 11:39 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल में जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव (west bengal assembly election) का समय नजदीक आता जा रहा है, वैसे राज्य में सियासी पारा चढ़ता जा रहा है. अब राज्य में तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress)  के समर्थकों का निशाना बनी है स्कूली बच्चों की यूनिफॉर्म. पश्चिम बंगाल के 24 परगना (24 Pargana) रानिया में मौजूद प्राइमरी स्कूल में बच्चों की यूनिफॉर्म (School Uniform) पर कमल के फूल पर कुछ लोगों ने ऐतराज जताया है. इसके बाद स्कूल के प्रशासन ने ड्रेस पर से कमल के फूल को हटाने का निर्णय लिया है.

स्कूल की टीचर बिजली दास का कहना है कि हम कमल के फूल के लोगो वाली ड्रेस पिछले 11 से 12 साल से इस्तेमाल कर रहे हैं, ये हमारा राष्ट्रीय फूल है. लेकिन पिछले दिनों इसे लेकर कई लोगों ने स्कूल में विरोध किया है. इसलिए अब हमने इसे हटाने का फैसला किया है.



बिजली दास ने कहा अब हम इसकी जगह सर्व शिक्षा मिशन का लोगो इस्तेमाल करेंगे. उन्होंने कहा, जो लोग इसका विरोध कर रहे हैं, उनमें तृणमूल कांग्रेस के काउंसलर भी शामिल हैं. हालांकि स्कूल में पढ़ रहे बच्चों के माता पिता ने कमल के लोगो पर कोई आपत्ति नहीं जताई है.

बता दें कि 2021 में पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने हैं. ममता बनर्जी के सामने सबसे बड़ी चुनौती अपनी सत्ता बचाने की है. वह पिछले 10 साल से बंगाल की सत्ता पर काबिज हैं. बीजेपी ने उनकी टेंशन बढ़ा रखी है. खासकर 2019 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी को जिस तरह से वोट मिला है, उसके बाद से ममता बनर्जी बीजेपी के बढ़ते कदमों को रोकने की हर संभव कोशिश कर रही हैं. इसके लिए उन्होंने रणनीतिकार प्रशांत किशोर की सेवाएं लेनी शुरू की हैं.

यह भी पढ़ें...
नित्‍यानंद केस: कर्नाटक HC का आदेश- स्‍थानीय कोर्ट जल्‍द पूरी करे सुनवाई

कोरोनावायरस के खिलाफ भारत की मदद से भावुक हुआ चीन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 11:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर