अपना शहर चुनें

States

बंगालः अधिकारी पर मुकुल रॉय का दावा- 48 घंटे में खत्म हो जाएगा सुवेंदु पर सस्पेंस

सुवेंदु अधिकारी रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके टीएमसी में बने रहने पर अपना स्टैंड साफ करेंगे. फाइल फोटो
सुवेंदु अधिकारी रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके टीएमसी में बने रहने पर अपना स्टैंड साफ करेंगे. फाइल फोटो

पश्चिमी मिदनापुर (West Midnapore) को टीएमसी (TMC) का गढ़ बनाने में सुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) की अहम भूमिका रही है. लेफ्ट सरकार (Left Government) के खिलाफ आंदोलनों में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के साथ रहे सुवेंदु अधिकारी काफी समय से नाराज चल रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 9:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की राजनीति का पेंडुलम इस समय सुवेंदु अधिकारी के आसपास घूम रहा है. खबरों के मुताबिक सुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) 6 दिसंबर को अपना स्टैंड क्लियर करने वाले हैं, उससे एक दिन पहले बंगाल बीजेपी के एक बड़े नेता ने सुवेंदु के टीएमसी (TMC) छोड़ने की अफवाहों को हवा दे दी है. कभी टीएमसी में रहे और अब बंगाल बीजेपी के बड़े नेता मुकुल रॉय (Mukul Roy) ने कहा, ''वे पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं. केवल समय बताएगा कि वे क्या करना चाहते हैं और कितना वक्त उन्हें चाहिए. लेकिन एक या दो दिन में पूरा ड्रामा खत्म हो जाएगा. उम्मीद करता हूं कि अधिकारी बीजेपी ज्वॉइन करेंगे.''

सुवेंदु अधिकारी ने ममता सरकार में कैबिनेट मंत्री के पद से एक हफ्ते पहले इस्तीफा दे दिया था और तृणमूल कांग्रेस के शीर्ष को बता दिया था कि वे पार्टी के काम नहीं कर पाएंगे. हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक अधिकारी ने इस संबंध में लोकसभा सांसद सौगत रॉय को टेक्स्ट मैसेज भेजा था. मैसेज में अधिकारी ने कहा था कि टीएमसी में उनकी समस्याएं खत्म नहीं होने वाली है. बता दें कि सुवेंदु अधिकारी रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर टीएमसी छोड़ने पर अपना स्टैंड क्लियर करेंगे. सुवेंदु पश्चिमी मिदनापुर में अपने होमटाउन में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे.

शनिवार को बंगाल बीजेपी चीफ दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने अधिकारी के गढ़ में रैली को संबोधित किया और टीएमसी के साथ ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा. सभा को संबोधित करते हुए घोष ने कहा, ''सुवेंदु अधिकारी क्या करते हैं ये मायने नहीं रखता है, टीएमसी उन्हें नेता नहीं बनने देगी. क्योंकि टीएमसी में वहीं नेता बनता है जो कालीघाट स्थित एक खास घर से ताल्लुक रखता है. उसी को नेता बनने की अनुमति है. बाकी के लोग जिन्होंने अपना खून और पसीना बहाया, वे सिर्फ कर्मचारी बने रहेंगे." घोष ने कहा कि बीजेपी नेता पैदा करती है.



घोष ने कहा कि मुकुल रॉय का उदाहरण सामने हैं, जिन्हें बीजेपी ने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का पद दिया, जब वे टीएमसी छोड़कर बीजेपी में आए... रिपोर्ट के मुताबिक सुवेंदु अधिकारी के ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) कैबिनेट छोड़ने और सत्ताधारी पार्टी के साथ मतभेद बढ़ने के बाद बीजेपी ने पश्चिमी मिदनापुर में आक्रामकता दिखानी शुरू कर दी और कथित तौर पर टीएमसी के कई पार्टी दफ्तरों पर कब्जा कर लिया है.
एक टीएमसी लीडर ने कहा, ''बीजेपी टीएमसी के पार्टी दफ्तरों पर कब्जा कर रही है. दिलीप घोष अधिकारी के गढ़ में रैली कर रहे हैं, जिसके बारे में पहले सोचा भी नहीं जा सकता था. पश्चिमी मिदनापुर में चीजें सही नहीं हैं.'' सुवेंदु अधिकारी पर बीजेपी नेता मुकुल रॉय के बयान का वजन इसलिए है कि शुक्रवार को ममता बनर्जी ने पार्टी के भीतर मौजूद बागियों को कड़े शब्दों में चेतावनी दी थी.

राज्य भर के नेताओं के साथ ममता बनर्जी की वर्चुअल रैली में शामिल टीएमसी के एक बड़े नेता ने कहा, "पार्टी के भीतर मौजूद सभी असंतुष्टों को दीदी ने क्लियर मैसेज दे दिया है. अगर वे पार्टी के भीतर रहना चाहते हैं तो उन्हें पार्टी के लिए काम करना होगा. जो लोग पार्टी के खिलाफ आवाज उठाएंगे, उन्हें बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. हालांकि ममता ने किसी का नाम नहीं लिया."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज