अपना शहर चुनें

States

उपचुनाव परिणाम: ममता बनर्जी की पार्टी ने छीनी कांग्रेस-बीजेपी की सीटें, तीनों पर दर्ज की जीत

टीएमसी ने उपचुनाव में तीनों सीटों पर जीत दर्ज की है.
टीएमसी ने उपचुनाव में तीनों सीटों पर जीत दर्ज की है.

पश्चिम बंगाल, उत्तराखंड इलेक्शन रिजल्ट २०१९ (West Bengal, Uttarakhand By-Election Results 2019): पश्चिम बंगाल में टीएमसी ने कलियागंज, खड़गपुर सदर और करीमपुर सीट पर जीत हासिल की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 5:46 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में हुए उपचुनाव (By-Election) में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने सभी तीनों सीटों पर जीत दर्ज की है. राज्य में लोकसभा चुनावों (Loksabha Election) में शानदार प्रदर्शन करने वाली भाजपा (BJP) इस उपचुनाव में एक भी सीट नहीं जीत पाई और उसे खड़गपुर सदर सीट का नुकसान उठाना पड़ा है. इस उपचुनाव में टीएमसी ने बीजेपी और कांग्रेस की एक-एक सीट पर कब्‍जा कर लिया है. तीनों सीटों में से खड़गपुर सीट पर पहले बीजेपी और करीमपुर सीट पर कांग्रेस का कब्‍जा था.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने उपचुनाव में जीत के बाद कहा कि मतदाताओं ने भाजपा को उसके 'सत्ता के अहंकार' के लिए सबक सिखाया है. इन सभी जगहों पर सोमवार को मतदान हुआ था. तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल की कालियागंज और खड़गपुर सदर और करीमपुर सीट पर जीत दर्ज की है.

बंगाल उपचुनाव में आया चौंकाने वाला परिणाम
पश्चिम बंगाल में सबसे चौंकाने वाले परिणाम खड़गपुर सदर सीट से रहा है. इस साल हुए लोकसभा चुनाव में राज्य की 18 सीटें जीतने वाली भाजपा के विधानसभा उपचुनाव में उम्मीदवार प्रेमचंद्र झा को तृणमूल कांग्रेस के प्रदीप सरकार ने हराकर बीजेपी से यह सीट छीन ली. निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि सरकार ने भाजपा उम्मीदवार को 20788 मतों के अंतर से हराया.
खड़गपुर सदर सीट पर भाजपा की हार पार्टी के लिए एक झटका है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष मेदिनीपुर से लोकसभा चुनाव जीतने से पहले वहां से विधायक थे. खड़गपुर सदर मेदिनीपुर लोकसभा क्षेत्र के तहत आने वाला एक विधानसभा क्षेत्र है.



टीएमसी का शानदार प्रदर्शन
तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार बिमलेंदु सिन्हा रॉय ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा उम्मीदवार जयप्रकाश मजूमदार को 24,073 मतों से हराकर करीमपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव जीता. उन्होंने इस सीट पर अपनी पार्टी का कब्जा बरकरार रखा. तृणमूल कांग्रेस की महुआ मोइत्रा ने पिछले विधानसभा चुनाव में करीमपुर सीट पर जीत दर्ज की थी. बाद में वह कृष्णानगर लोकसभा सीट से निर्वाचित हो गईं.

तृणमूल कांग्रेस के तपन देव सिन्हा ने बेहद नजदीकी मुकाबले में कालियागंज सीट जीत ली है. उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के कमल चंद्र सरकार को 2418 वोटों से हराया. पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के परमथनाथ रॉय ने जीत दर्ज की थी. पार्टी ने उनकी पुत्री धृताश्री को मैदान में उतारा था जो इस उपचुनाव में तीसरे नम्बर पर रहीं.

रायगंज लोकसभा पर बीजेपी का कब्‍जा
कालियागंज रायगंज लोकसभा क्षेत्र में तहत आने वाला एक विधानसभा क्षेत्र है जहां से भाजपा ने कुछ ही महीने पहले जीत दर्ज की थी. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उपचुनाव में पार्टी की जीत का श्रेय राज्य की जनता को देते हुए कहा कि मतदाताओं ने भाजपा को उसके 'सत्ता के अहंकार' के लिए सबक सिखाया है.

उन्होंने एक टीवी चैनल से कहा, 'हम इस जीत को बंगाल के लोगों को समर्पित करते हैं. भाजपा को सत्ता के अहंकार और बंगाल के लोगों का अपमान करने के लिए सबक मिला है.' उन्होंने कहा कि माकपा और कांग्रेस स्वयं को मजबूत करने की बजाय भाजपा की पश्चिम बंगाल में 'मदद' कर रही हैं.

ये भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल: TMC की जीत पर BJP प्रत्‍याशी ने कहा- NRC के डर से मिली हार

ये भी पढ़ें: ममता बनर्जी ने कहा - विधानसभा उपचुनाव में TMC की जीत NRC के खिलाफ जनादेश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज