बंगाल हिंसा: दिलीप घोष की अगुआई में भाजपा नेताओं ने की गृह मंत्रालय की टीम से मुलाकात

दिलीप घोष की अगुवाई में गृह मंत्रालय की टीम से कोलकाता में मिलते भाजपा के प्रतिनिधिमंडल. (ANI Twitter/6 May 2021)

दिलीप घोष की अगुवाई में गृह मंत्रालय की टीम से कोलकाता में मिलते भाजपा के प्रतिनिधिमंडल. (ANI Twitter/6 May 2021)

West Bengal Violence: राज्य चुनाव बाद की हिंसा के गिरफ्त में है और इस दौरान कथित तौर पर भाजपा के कई कार्यकर्ताओं की मौत हो गई एवं कई अन्य घायल हो गए.

  • Share this:

कोलकाता. पश्चिम बंगाल में चुनावी नतीजों के बाद हुई हिंसा को लेकर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा में राजनीति तेज हो गई है. दोनों पार्टियों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है. इस बीच गुरुवार को कोलकाता के बीएसएफ ऑफिस में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष की अगुआई में पार्टी के 10 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने गृह मंत्रालय की टीम से मुलाकात की. राज्य चुनाव बाद की हिंसा के गिरफ्त में है और इस दौरान कथित तौर पर भाजपा के कई कार्यकर्ताओं की मौत हो गई एवं कई अन्य घायल हो गए. केंद्र ने विपक्षी कार्यकर्ताओं पर हमले की घटनाओं पर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है.


इससे पहले, भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने बीते 4 मई को कहा था कि पार्टी उन कार्यकर्ताओं के साथ खड़ी है जो चुनाव परिणाम की घोषणा के बाद तृणमूल कांग्रेस से संबद्ध गुंडों का अत्याचार झेल रहे हैं. घोष ने दावा किया था कि उन स्थानों पर हमले किए जा रहे हैं जहां तृणमूल कांग्रेस भारी बहुमत से जीती है. उन्होंने कहा कि लेकिन भाजपा नेतृत्व अपने कार्यकर्ताओं के साथ खड़ा है जिन्होंने अपनी जान जोखिम में डालते हुए चुनाव लड़ा है. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा था, 'हम लड़ रहे हैं और आगे भी लड़ते रहेंगे. आज या कल बंगाल भाजपा के हाथों बदलाव का साक्षी बनेगा.'


दरअसल भाजपा ने एक पार्टी कार्यालय में कथित आगजनी का वीडियो साझा किया है जिसमें बांस की बल्लियां और छत जलती हुई नजर आ रही है तथा परेशान लोगों को चिल्लाते हुए भागते देखा जा सकता है. सोशल मीडिया पर मृत व्यक्तियों की तस्वीरें और एक दुकान से कपड़े लूट कर भागते लोगों की फुटेज वायरल हो रही है. भाजपा का दावा है कि उसके कम से कम छह कार्यकर्ता और समर्थक हमलों में मारे गए हैं जिनमें एक महिला भी शामिल है. भाजपा इसका आरोप तृणमूल पर लगा रही है.


भाजपा ने पत्रकारों के साथ एक वीडियो साझा किया है जिसमें नंदीग्राम में पार्टी दफ्तर में हुई तोड़फोड़ को दिखाया गया है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस सीट पर भाजपा के शुभेंदु अधिकारी से चुनाव हार गई थीं. अधिकारियों ने बताया कि बर्द्धमान जिले में रविवार (2 मई) और सोमवार (3 मई) को तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के समर्थकों में कथित झड़प में चार लोगों की मौत हो गई. तृणमूल कांग्रेस ने दावा किया कि मारे गए लोगों में तीन पार्टी के समर्थक थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज