Home /News /nation /

पश्चिम बंगाल हिंसा: सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र, राज्य सरकार और चुनाव आयोग को भेजा नोटिस, SIT जांच की उठी है मांग

पश्चिम बंगाल हिंसा: सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र, राज्य सरकार और चुनाव आयोग को भेजा नोटिस, SIT जांच की उठी है मांग

संघ लोक सेवा आयोग ने गुरुवार, 24 जून को अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर इंजीनियरिंग सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र जारी कर दिए हैं

संघ लोक सेवा आयोग ने गुरुवार, 24 जून को अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर इंजीनियरिंग सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र जारी कर दिए हैं

West Bengal Violence: जस्टिस विनीत शरण की अध्यक्षता वाली बेंच की तरफ से नोटिस जारी किए गए हैं. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में पश्चिम बंगाल चुनाव के बाद हिंसा की एसआईटी जांच की मांग वाली अन्य याचिकाओं पर सुनवाई पिछली बार टल गई थी.

अधिक पढ़ें ...
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) के बाद हुई हिंसा की स्वतंत्र जांच की मांग को लेकर याचिका दायर की गई थी. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और बंगाल सरकार को नोटिस भेजा है. शीर्ष अदालत ने चुनाव आयोग (Election Commission) को भी नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) भी मामले में पक्षकार हैं, लेकिन उनके नाम से कोई भी नोटिस जारी नहीं हुआ है. लखनऊ की वकील रंजना अग्निहोत्री ने हिंसा की निष्पक्ष जांच कराने कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

जस्टिस विनीत शरण की अध्यक्षता वाली बेंच की तरफ से नोटिस जारी किए गए हैं. सुप्रीम कोर्ट में पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हिंसा की एसआईटी जांच की मांग वाली अन्य याचिकाओं पर सुनवाई पिछली बार टल गई थी. जस्टिस अनिरुद्ध बोस ने खुद को सुनवाई से अलग कर लिया था. यह दूसरा मौका था, जब किसी जज ने इस मामले से दूरी बनाई थी. उसके बाद जस्टिस हेमंत गुप्ता की अध्यक्षता वाली बेंच ने इस याचिका को दूसरी पीठ के समक्ष लिस्ट करने का आदेश दिया था. इस मामले पर जस्टिस विनीत सरन कि अध्यक्षता वाली दो सदस्यीय पीठ ने आज सुनवाई की. इसके पहले अभी 18 जून को भी जस्टिस इंदिरा बनर्जी ने इस मामले की सुनवाई से खुद को अलग कर लिया था.



यह भी पढ़ें: गुलशन कुमार मर्डर केस: HC का फैसला, दोषी मर्चेंट की उम्रकैद की सजा बरकरार

60 वर्षीय महिला ने लगाया था पोते के सामने सामूहिक दुष्कर्म का आरोप
हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवार के अलावा कई लोगों ने याचिकाएं दाखिल की हैं. पश्चिम बंगाल की एक 60 वर्षीय महिला ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा है कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने चार मई की रात को उसके पोते के सामने उसके साथ सामूहिक रेप किया. याचिका में चुनाव बाद की हिंसा और बलात्कार की घटनाओं की एसआईटी से जांच की मांग की गई है. इसमें कहा गया है कि जिस तरह गोधरा कांड की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने एसआईटी का गठन किया था, उसी तरह पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद की हिंसा और बलात्कार की घटनाओं की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया जाए.



बीते 2 मई को संपन्न हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में सीएम बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी ने बड़ी जीत दर्ज की थी. 293 सीटों पर हुए चुनाव में पार्टी के खाते में 213 सीटें आई थीं. वहीं, राज्य में सत्तारूढ़ दल को कड़ी टक्कर दे रही भारतीय जनता पार्टी ने 77 सीटों पर जीत दर्ज की थी. राज्य में हिंसा की खबरें आने के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा समेत पार्टी के कई बड़े नेताओं ने इलाकों का दौरा किया था.

Tags: BJP, Mamata banerjee, Supreme Court, TMC, West Bengal Violence

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर