Cyclone Tauktae: ताकतवर हुआ तूफान, महाराष्ट्र- गुजरात में मछली पकड़ने वाली सभी नावें बंदरगाहों पर लौटीं

सोमवार को गुजरात तट पर पहुंचेगा चक्रवाती तूफान,

सोमवार को गुजरात तट पर पहुंचेगा चक्रवाती तूफान,

साल के पहले चक्रवाती तूफान का रूप विकराल होता जा रहा है. देश के पश्चिमी और उत्तर-पश्चिमी तट पर तूफान की दस्तक से ही भारतीय तटरक्षक बल सतर्क हो गए हैं. सोमवार शाम तक गुजरात के तट पर इसके पहुंचने की आशंका है. इसे देखते हुए मछली पकड़ने वाली सभी नौकाएं बंदरगाह पर लौट आई हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. चक्रवाती टाउते ने देश के समुद्र तटीय इलाकों से गुजर रहा है. कुछ जगहों पर चक्रवात ने तबाही भी मचाई है. अब गुजरात तट की ओर चक्रवात टाउते के तेजी से बढ़ने के साथ भारतीय तटरक्षक बल (INDIAN COAST GAURD) ने रविवार को बताय कि महाराष्ट्र और गुजरात में मछली पकड़ने वाली सभी नौकाएं नजदीकी बंदरगाहों पर पहुंच गई हैं. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक च्रकवात टाउते मजबूत होकर अब काफी भीषण चक्रवाती तूफान में परिवर्तित हो गया है. 17 मई की शाम तक गुजरात के तट पर इसके पहुंचने की संभावना है और 18 मई की सुबह यह पोरबंदर और भावनगर जिले के महुआ के बीच से गुजरेगा. ऐसे में मछुआरों को अलर्ट कर दिया गया है.

तटरक्षक बल (INDIAN COAST GAURD) ने ट्वीट कर बताया है -‘मत्स्य विभाग के साथ प्रभावी और निरंतर संवाद तथा मछुआरों को समय पर आईसीजी के पोत एवं विमानों ने मौसम के प्रति अलर्ट किया. जिससे महाराष्ट्र की सभी 4526 नौकाएं और गुजरात की 2258 नौकाएं सुरक्षित रूप से बंदरगाहों तक पहुंच गई हैं.’इससे पहले तटरक्षक बल ने बताया था कि महाराष्ट्र के 18 नाव और गुजरात की 1 नौका को छोड़कर सभी नाव बंदरगाहों पर लौट आए हैं, लेकिन अब सभी नौकाओं के सुरक्षित लौटने की पुष्टि की गई है. आईएमडी ने कहा कि 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं उत्तर-पूर्व अरब सागर, गुजरात और दमन एवं दीव के तटों पर रविवार की सुबह से जारी रहीं. आईएमडी ने गुजरात के साथ दमन एवं दीव के लिए भी यलो अलर्ट जारी किया है.

शक्तिशाली चक्रवाती तूफान है टाउते
आईएमडी के चक्रवात चेतावनी विभाग के मुताबिक, 18 मई तक चक्रवाती तूफान बेहद शक्तिशाली हो जाएगा और 150 से 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी. टाउते देश के पश्चिमी तट से एंटर करने वाला साल का पहला चक्रवाती तूफान है. इसका नाम टाउते म्यांमार की ओर से दिया गया है, जिसका मतलब होता है- तेज शोर मचाने वाली छिपकली. तूफान से लक्षद्वीप, केरल, कर्नाटक, गोआ और महाराष्ट्र के तटीय क्षेत्रों में बारिश और तेज हवाएं चल रही हैं. 16 मई से तूफान की गति और तेज हुई है और उत्तर-पश्चिम की ओर खतरा बढ़ गया है. इसे लेकर इंडियन कोस्ट गार्ड ने अपनी तैयारी पूरी रखी है.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज