होम /न्यूज /राष्ट्र /Weather Today: उत्तर भारत में दस्तक देगा पश्चिमी विक्षोभ, शुरू होगा तीखी सर्दी का दौर...जानें IMD का पूर्वानुमान

Weather Today: उत्तर भारत में दस्तक देगा पश्चिमी विक्षोभ, शुरू होगा तीखी सर्दी का दौर...जानें IMD का पूर्वानुमान

दिसंबर के पहले सप्ताह में एक ताकतवर पश्चिमी विक्षाेभ के उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है, जिसके असर से सर्दी बढ़ेगी. (File Photo)

दिसंबर के पहले सप्ताह में एक ताकतवर पश्चिमी विक्षाेभ के उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है, जिसके असर से सर्दी बढ़ेगी. (File Photo)

Today Weather Update: मौसम विभाग के मुताबिक, आने वाले हफ्तों में तापमान और लुढ़केगा. अभी दिन में धूप निकल रही है, लेकिन ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी के बाद सर्दीली हवाएं मैदानी इलाकों की ओर बहकर आ रही हैं. इस कारण दिल्ली एनसीआर समेत उत्तर भारत के राज्यों में ठंड काफी बढ़ गई है. 15 नवंबर के बाद से मैदानी राज्यों के तापमान में तेजी से गिरावट दर्ज की गई है. मौसम विभाग के मुताबिक, आने वाले हफ्तों में तापमान और लुढ़केगा. अभी दिन में धूप निकल रही है, लेकिन आगामी दिनों में सर्दी का प्रकोप और बढ़ेगा. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक दिन में भी कोहरा छाया रहेगा. अगर मौसमी सिस्टम की बात करें तो चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और आसपास के क्षेत्रों पर बना हुआ है. एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण पूर्व अरब सागर के ऊपर बना हुआ है.

स्काईमेट वेदर के मुताबिक अगले 24 घंटे के दौरान, तमिलनाडु, केरल, लक्षद्वीप और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. तटीय कर्नाटक और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की बारिश संभव है. देश के बाकी हिस्सों में मौसम शुष्क बना रहेगा. गंगा के मैदानी इलाकों में सुबह और शाम के समय धुंध की संभावना है. बीते 24 घंटे के दौरान तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, तमिलनाडु और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश हुई. अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की बारिश हुई. देश के उत्तर-पश्चिम, मध्य और दक्षिणी हिस्सों में न्यूनतम और अधिकतम तापमान में और गिरावट दर्ज की गई. दिल्ली और एनसीआर का वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब श्रेणी में रहा.

दिसंबर में उत्तर भारत में शुरू होगा तीखी सर्दी का दौर
राजस्थान में कंपाने वाली ठंड पड़ने लगी है. रात को कोहरे के कारण न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस से कम हो जाता है. मौसम विभाग के मुताबिक, राजस्थान में दिसंबर के शुरू होने के साथ सर्दी और बढ़ सकती है. राज्य के ज्यादातर जिलों में न्यूनतम तापमान 7 डिग्री के नीचे जा सकता है. इसके अलावा जिलों में शीतलहर भी चलने का अनुमान जताया गया है. वर्तमान में राजस्थान पर बने प्रतिचक्रवात के असर से हवाओं का रुख बार-बार बदल रहा है, जिसके चलते मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में रात एवं दिन के तापमान में उतार-चढ़ाव का सिलसिला बना हुआ है. इस बीच 2 दिसंबर से एक ताकतवर पश्चिमी विक्षाेभ के उत्तर भारत में पहुंचने की संभावना है.

इसके असर से हिमाचल, उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर, लेह-लद्दाख में बर्फबारी हाेने की संभावना है. पश्चिमी विक्षाेभ के आगे बढ़ने पर सर्द हवाएं मैदानों की ओर आएंगी जिसके बाद चार दिसंबर से मैदानी इलाकों सहित प्रदेश के तापमान में तेजी से गिरावट आएगी और तीखी सर्दी का दौर शुरू होगा. जम्मू-कश्मीर में न्यूनतम पारा शून्य से नीचे चला गया है. मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर में रात को न्यूनतम तापमान शून्य से 2.1 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया, जो इस मौसम में अब तक का सबसे कम तापमान है. वहीं, दक्षिण कश्मीर में वार्षिक अमरनाथ यात्रा के आधार शिविर में से एक पहलगाम पर्यटक रिजॉर्ट में तापमान शून्य से 3.4 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा और इसी के साथ यह घाटी में सबसे ठंडा स्थान रहा. उत्तराखंड के ऊपरी इलाकों में भी पारा 5 डिग्री से नीचे दर्ज किया गया.

Tags: Cold wave, Weather Alert, Weather Update

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें