क्या है वैक्सीन पासपोर्ट, आखिर क्यों हर ट्रैवलर को पड़ने वाली है इसकी जरूरत

अब विदेशों की यात्रा की दौरान 'वैक्सीन पासपोर्ट' की जरूरत पड़ सकती है. (सांकेतिक तस्वीर)

अब विदेशों की यात्रा की दौरान 'वैक्सीन पासपोर्ट' की जरूरत पड़ सकती है. (सांकेतिक तस्वीर)

अब एक देश से दूसरे यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए 'वैक्सीन पासपोर्ट' (Vaccine Passport) की जरूरत पड़ रही है. कहा जा रहा है कि 2021 में 'वैक्सीन पासपोर्ट' सबसे महत्वपूर्ण ट्रैवेलिंग डॉक्यूमेंट साबित होने जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 4:46 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना महामारी (Covid-19 Pandemic) ने दुनिया को बदलकर रख दिया. महामारी से बचाव के लिए दुनियाभर की सरकारें तरह-तरह के उपाय तलाश रही हैं. नए नियम लागू कर रही हैं. इन्हीं नए नियमों और परिवर्तनों के साथ चल रही जिंदगी को न्यू नॉर्मल भी कहा जा रहा है. इसी क्रम में अब एक देश से दूसरे यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए 'वैक्सीन पासपोर्ट' (Vaccine Passport) की जरूरत पड़ रही है. कहा जा रहा है कि 2021 में 'वैक्सीन पासपोर्ट' सबसे महत्वपूर्ण ट्रैवेलिंग डॉक्यूमेंट साबित होने जा रहा है.

अब जबकि कोरोना के मामले वैश्विक स्तर पर कम हुए हैं तो देशों के बीच उड़ानों की शुरुआत भी हो रही है. फ्लाइट्स की व्यवस्था नॉर्मल करने की कोशिश की जा रही है. ऐसे में यात्रियों के लिए अपने देशों से वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट और यात्रा की अनुमति के परमिशन जैसे कागजात अनिवार्य किए जा सकते हैं. कई देशों में इस प्रक्रिया की शुरुआत हो भी चुकी है. ये कागजात ई-फॉर्मैट या डिजिटल फॉर्मैट में होंगे. इन्हें ही वैक्सीन पासपोर्ट कहा जा रहा है

अंतरराष्ट्रीय संस्था भी कर चुकी है संस्तुति

वर्ल्ड टूरिज्म ऑर्गेनाइजेशन के जेनरल सेक्रेटरी जुराब पोलोलीकश्विली ने कहा है कि वैक्सीन पासपोर्ट को वैश्विक स्तर पर अपनाया और लागू किया जाना चाहिए. इससे पहले दिसंबर महीने में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने साफ किया था कि संगठन ई-वैक्सीन सर्टिफिकेट का इस्तेमाल करने पर गंभीरता से विचार कर रहा है. अमेरिका ने भी वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट जारी करने पर सहमति जताई थी. बता दें कि चीन के वुहान में क्यूआर कोड के जरिए इस तरह की व्यवस्था पहले से ही काम कर रही है.
फरवरी महीने में ही डेनमार्क ने शुरू कर दिया था 'वैक्सीन पासपोर्ट' पर काम

फरवरी महीने की शुरुआत में यूरोपीय देश डेनमार्क ने यात्राओं और सार्वजनिक जीवन में प्रतिबंधों में ढील देने के लिए 'वैक्सीन पासपोर्ट' लॉन्च करने की घोषणा की थी. दरअसल देश की सरकार का कहना है कि वो ऐसा डिजिटल पासपोर्ट तैयार कर रही है जिससे पता लग जाएगा कि पासपोर्टधारक ने कोरोना वैक्सीन ली है या नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज