राहुल के इस्तीफे के बाद नया अध्यक्ष चुनने तक कौन संभालेगा कांग्रेस, क्या कहता है पार्टी का संविधान?

कांग्रेस के संविधान में ऐसी स्थिति को लेकर स्पष्ट कहा गया है कि पार्टी अध्यक्ष की अचानक मृत्यु या इस्तीफे की स्थिति में पार्टी के सबसे सीनियर जनरल सेक्रेटरी को नया अध्यक्ष चुने जाने तक अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभालनी होती है.

News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 6:53 PM IST
राहुल के इस्तीफे के बाद नया अध्यक्ष चुनने तक कौन संभालेगा कांग्रेस, क्या कहता है पार्टी का संविधान?
राहुल के इस्तीफे के बाद अब कांग्रेस का क्या?
News18Hindi
Updated: July 3, 2019, 6:53 PM IST
राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव 2019 में मिली हार की जिम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. सूत्रों के मुताबिक ऐसी ख़बरें आ रही हैं कि वरिष्ठ नेता और पार्टी के जनरल सेक्रेटरी मोतीलाल वोरा अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर काम करेंगे. हालांकि मोतीलाल वोरा ने ऐसी किसी भी संभावना से इनकार कर दिया है और स्पष्ट कहा है कि अभी राहुल का इस्तीफ़ा मंज़ूर नहीं हुआ है. अब सवाल है कि अगर राहुल का इस्तीफा मंज़ूर होता है तो पार्टी संविधान के मुताबिक कौन कांग्रेस की ज़िम्मेदारी संभालेगा?

क्या कहता है कांग्रेस का संविधान?
कांग्रेस के संविधान में ऐसी स्थिति को लेकर स्पष्ट कहा गया है कि पार्टी अध्यक्ष की अचानक मृत्यु या इस्तीफे की स्थिति में पार्टी के सबसे सीनियर जनरल सेक्रेटरी को नया अध्यक्ष चुने जाने तक अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभालनी होती है. फिलहाल कांग्रेस में सबसे वरिष्ठ जनरल सेक्रेटरी मोतीलाल वोरा ही हैं. ऐसे में अगर राहुल गांधी का इस्तीफ़ा मंज़ूर होता है तो वोरा को ही कम से कम कार्यकारी अध्यक्ष चुने जाने तक ये ज़िम्मेदारी संभालनी होगी. कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने अध्यक्ष के लिए होने वाले चुनावों तक के लिए कार्यकारी अध्यक्ष चुन सकती है जो वोरा की जगह कोई और भी हो सकता है.



राहुल ने क्या कहा?
राहुल गांधी ने खुद को 2019 के आम चुनावों में हार के लिए जिम्मेदार बताया है. उन्होंने अपने इस्तीफे में लिखा है कि आगे पार्टी की ग्रोथ के लिए जिम्मेदारी लेना जरूरी है. यह भी एक वजह है कि मैं कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं. राहुल गांधी ने अपने फैसले के बाद नए कांग्रेस अध्यक्ष को खुद न चुनने की वजह के बारे में भी कहा है. उन्होंने लिखा है कि उनके कुछ सहयोगियों का कहना है कि वे पार्टी के किसी ठीक नेता को आगे के नेतृत्व के लिए नामित करें लेकिन मेरे लिए इस हालात में अगले नेतृत्व का चयन करना सही नहीं होगा.



स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम!
उधर अमेठी से बीजेपी सांसद स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी के इस्तीफा देने पर कुछ ख़ास तो नहीं कहा लेकिन मुस्कुराते हुए- 'चलिए, जय श्रीराम’ का तंज ज़रूर कस दिया. बता दें कि 2019 लोकसभा चुनाव में ईरानी ने अमेठी सीट से राहुल गांधी को कई हजार वोटों से हराया था. वहीं, बीजेपी नेता नलिन कोहली ने इस्तीफे पर चुटकी लेते हुए कहा कि कांग्रेस परिवार केंद्रित पार्टी है. वहां आशीर्वाद से अध्यक्ष बनते हैं.

ये भी पढ़ें- इन 4 वजहों के चलते राहुल गांधी ने दिया इस्तीफा, कहा नहीं चुन सकता अगला कांग्रेस अध्यक्ष
First published: July 3, 2019, 6:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...