क्‍या होता है बार्ज, टाउते तूफान के बावजूद जिस पर लोग बीच समुद्र में मौजूद थे

टाउते तूफान ने मचाया कहर. (File pic)

Tauktae Cyclone: ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ONGC) ने कहा है कि एक बार्ज, जिसमें उसके 261 लोग सवार थे, वो अरब सागर में बांबे हाई पर ड्रिलिंग कर रहा था.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. अरब सागर (Arab Sea) में उत्‍पन्‍न बेहद शक्तिशाली टाउते तूफान (Tauktae Cyclone) ने देश के पश्चिमी तटीय राज्‍यों में जमकर कहर बरपाया है. यह तूफान सोमवार रात को गुजरात में तट से टकराया. इस तूफान से पहले ही हजारों लोगों को सुरक्षित स्‍थान पर पहुंचा दिया गया था. साथ ही मछुआरों व अन्‍य लोगों को कुछ दिन पहले ही समुद्र में न जाने की चेतावनी दी गई थी. इसके बावजूद बार्ज पी305 (Barge P305) बीच समुद्र में मौजूद था. उस पर 261 लोग सवार थे. इन सभी को बचाया जा रहा है.

    केंद्र सरकार द्वारा संचालित ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉरपोरेशन (ONGC) ने कहा है कि एक बार्ज, जिसमें उसके 261 लोग सवार थे, वो अरब सागर में बांबे हाई पर ड्रिलिंग कर रहा था. इसी दौरान वो तूफान के कारण उसका एंकर हट गया और वो समुद्र में बहने लगा. हालांकि अब बार्ज पी305 को स्थिर कर दिया गया है. लेकिन कम ही लोगों को पता होगा कि आखिर ये बार्ज होता क्‍या है.

    क्‍या होता है बार्ज?
    बार्ज एक तरह की समतल नाव होती है, जिसे नदियों व नहरों में सामान लाने ले जाने के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है. इन दिनों इन बार्ज से बड़ी संख्‍या में सामान को इधर-उधर पहुंचाया जाता है क्‍योंकि यह सस्‍ता है. वहीं बांबे हाई क्षेत्र में ये बार्ज एक तरह से तेल के कुओं या कुएं खोदने का काम करने वाले श्रमिकों के लिए रहने की जगह का काम करते हैं. बांबे हाई समेत कई अन्‍य मामलों में यह बार्ज बिना पावर के होते हैं. इन्‍हें एंकर डालकर रोके रखना पड़ता है. इन्‍हें छोटी नावों से टोह किया जाता है.

    मुंबई में क्‍या हुआ?
    पश्चिमी तट के पास काम कर रहे 4 बार्ज टाउते तूफान के कारण समुद्र में बहकर दूर चले गए. कोस्‍ट गार्ड और नौसेना ने संयुक्‍त अभियान में इनमें से एक बार्ज से 146 लोगों को बचाया है. अन्‍य तीन बार्ज अलग-अलग जगहों पर चले गए हैं. माना जा रहा है कि चारों नावों में करीब 800 लोग सवार हैं. हालांकि इनकी कोई पुख्‍ता संख्‍या नहीं है.