Home /News /nation /

Flexible Fuel Vehicles: क्‍या हैं फ्लेक्‍स फ्यूल कार? क्‍या महंगे ईंधन से दे सकती हैं राहत?

Flexible Fuel Vehicles: क्‍या हैं फ्लेक्‍स फ्यूल कार? क्‍या महंगे ईंधन से दे सकती हैं राहत?

फ्लेक्सिबल फ्यूल व्‍हीकल बन सकते हैं महंगे ईंधन का विकल्‍प. (File pic)

फ्लेक्सिबल फ्यूल व्‍हीकल बन सकते हैं महंगे ईंधन का विकल्‍प. (File pic)

Flexible Fuel Vehicles: यह वैकल्पिक ईंधन वाहन है, जिसे एक से अधिक ईंधन के मिश्रण पर चलने के लिए डिजाइन किया गया है. यह पेट्रोल (Petrol) और पेट्रोल व इथेनॉल (Ethanol) के किसी भी मिश्रण पर 83 फीसदी तक चलने में सक्षम होते हैं. इसके ईंधन को ई-85 या फ्लेक्स ईंधन कहते हैं. यह गैसोलीन-इथेनॉल मिश्रण होता है, जिसमें मौसम और जियोग्राफी के हिसाब से 51 फीसदी से 83 फीसदी तक इथेनॉल होता है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. पेट्रोल-डीजल के दामों (Petrol- Diesel Rate) में पिछले दिनों आग लगी हुई थी. कुछ शहरों में पेट्रोल (Petrol Rate) के दाम तो 110 रुपये प्रति लीटर से भी अधिक हो गए थे. ऐसे में लोगों ने अब सीएनजी (CNG) या अन्‍य ग्रीन फ्यूल (Green Fuel) की ओर ध्‍यान देना शुरू कर दिया है. ऐसे में सस्‍ते ईंधन के विकल्‍प वाले वाहनों में से एक फ्लेक्‍स फ्यूल वाहन (Flexible fuel Vehicle) भी हैं. यह वैकल्पिक ईंधन वाहन है, जिसे एक से अधिक ईंधन के मिश्रण पर चलने के लिए डिजाइन किया गया है. यह पेट्रोल (Petrol) और पेट्रोल व इथेनॉल (Ethanol) के किसी भी मिश्रण पर 83 फीसदी तक चलने में सक्षम होते हैं. इसके ईंधन को ई-85 या फ्लेक्स ईंधन कहते हैं. यह गैसोलीन-इथेनॉल मिश्रण होता है, जिसमें मौसम और जियोग्राफी के हिसाब से 51 फीसदी से 83 फीसदी तक इथेनॉल होता है.

    कैसे काम करते हैं ये फ्लेक्‍सिबल फ्यूल व्‍हीकल?
    इन फ्लेक्सिबल फ्यूल व्‍हीकल (Flexible Fuel Vehicles) में आम कारों की ही तरह सभी उपकरण लगे हैं. लेकिन इसमें कुछ खास उपकरण भी लगाए गए हैं. इसमें इलेक्‍ट्रॉनिक कंट्रोल मॉड्यूल लगाया गया है. यह फ्यूल मिक्‍सर, इग्‍निशन टाइमिंग, एमिशन सिस्‍टम, वाहन के संचालन और वाहन में आने वाली समस्‍या को सटीक तौर पर नियंत्रित करता है. इन वाहनों में खास फ्यूल टैंक होता है, जिसमें दो ईंधन को रखने की क्षमता होती है.

    यह भी पढ़ें: Winter Session 2021: कब शुरू होगा संसद का शीतकालीन सत्र, कौन से विधेयक होंगे पेश? यहां जानें

    फ्लेक्सिबल फ्यूल के क्‍या होते हैं फायदे?

    सस्‍ता ईंधन विकल्‍प: ईंधन के रूप में तेल सीमित स्रोत है. ऐसे में यह जरूरी है कि इसका विकल्‍प तलाशा जाए. ऐसे में फ्लेक्‍स फ्यूल एक अहम विकल्‍प है. पेट्रोल और इथेनॉल को मिलाकर इस्‍तेमाल करने से ईंधन की कमी को दूर किया जा सकता है. ये पारंपरिक ईंधन से सस्‍ता भी पड़ता है.

    सस्‍ता कच्‍चा माल: फ्लेक्‍स फ्यूल के लिए इस्‍तेमाल होने वाला इ‍थेनॉल गन्‍ना या मक्‍का से बनाया जाता है. यह दोनों ही फसल सस्‍ती होती हैं और इनका उत्‍पादन बड़े स्‍तर पर होता है. उत्‍पादन की लागत भी काफी कम होती है.

    नेचुरल एंटी फ्रीज: इथेनॉल प्राकृतिक रूप से एंटी फ्रीज पदार्थ होता है. ऐसे में सर्दियों में यह पाइपलाइन में जमता नहीं है.

    कम कार्बन उत्‍सर्जन: इथेनॉल पेट्रोल से अधिक स्‍वच्‍छ होता है. ऐसे में यह कम कार्बन उत्‍सर्जन करता है.

    Tags: CNG, Diesel, Petrol

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर