Home /News /nation /

ओमिक्रॉन में काफी कम है वायरल लोड, फिर भी डेल्टा के मुकाबले तेजी से फैल रहा है, जानें क्यों?

ओमिक्रॉन में काफी कम है वायरल लोड, फिर भी डेल्टा के मुकाबले तेजी से फैल रहा है, जानें क्यों?

कोविड का नया वेरिएंट दक्षिण अफ्रीका में सबसे पहले मिला था.(फाइल फोटो)

कोविड का नया वेरिएंट दक्षिण अफ्रीका में सबसे पहले मिला था.(फाइल फोटो)

What is viral Load, Omicron variant, Delta variant: ओमिक्रॉन वेरिएंट की ट्रांसमिशन क्षमता डेल्टा के मुकाबले कई गुना अधिक है जिस वजह से यह ज्यादा तेज गति से लोगों को संक्रमित कर रहा है क्योंकि यह प्रतिरक्षा से बचाव में भी सक्षम है. लेकिन इसमें वायरल लोड क्षमता काफी कम है. रिसर्च के परिणाम बताते हैं कि ओमिक्रॉन की संचरण क्षमता बड़ी मात्रा में संक्रमित लोगों से वायरस निकलने पर निर्भर नहीं करती.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Corona New Variant Omicron) की वजह से पूरी दुनिया में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामलों में एक बार फिर उछाल आया है. भारत में दैनिक मामलों की संख्या 3 लाख को पार कर गई है. ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर अभी भी रिसर्च जारी है. इस बीच ओमिक्रॉन पर एक रिसर्च में बड़ा खुलासा हुआ है कि ओमिक्रॉन (Omicron Viral Load) और डेल्टा का वायरल लोड (Delta Viral Load) लगभग समान है. यह वेरिएंट डेल्टा की तुलना में ज्यादा मात्रा में वायरल लोड जारी नहीं कर सकता.

ओमिक्रॉन वेरिएंट की ट्रांसमिशन क्षमता डेल्टा के मुकाबले कई गुना अधिक है जिस वजह से यह ज्यादा तेज गति से लोगों को संक्रमित कर रहा है क्योंकि यह प्रतिरक्षा से बचाव में भी सक्षम है लेकिन इसमें वायरल लोड क्षमता काफी कम है. रिसर्च के परिणाम बताते हैं कि ओमिक्रॉन की संचरण क्षमता बड़ी मात्रा में संक्रमित लोगों से वायरस निकलने पर निर्भर नहीं करती. इसकी तेज गति से फैलने के पीछे सबसे बड़ा इसकी प्रतिरक्षा से बचाव करने की क्षमता है.

यह भी पढ़ें- तमिलनाडु: जबरन धर्म परिवर्तन के बाद छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, हॉस्टल वार्डन गिरफ्तार

आखिर क्या है वायरल लोड- वायरल लोड संक्रमित व्यक्ति में वायरस की मात्रा है. आरटी-पीसीआर टेस्ट में वायरल लोड का पता चलता है. आरटी-पीसीआर सेट में दर्शाया गया CT मान वायरल लोड को इंगित करता है. सीटी मान और वायरल लोड हमेशा एक दूसरे के विपरीत होते हैं. सीटी मान जितना कम होगा वायरल लोड उतना अधिक होगा.

वायरल लोड को समझने के लिए रिसर्च में शोधकर्ताओं ने संक्रमित व्यक्तियों से एकत्र किए गए नाक और गले के स्वाब के परीक्षण के परिणामों का अध्ययन में पाया गया कि जो लोग डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित थे उनमें ओमिक्रॉन से अधिक वायरल लोड पाया गया. हार्वर्ड टी एच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में एक संक्रामक रोग विशेषज्ञ योनातन ग्रैड ने कहा कि मैं वास्तव में इस तरह के परिणाम की उम्मीद नहीं कर रहा था.

स्विट्ज़रलैंड में जिनेवा विश्वविद्यालय के एक वायरोलॉजिस्ट बेंजामिन मेयर ने कहा, ‘सामान्य तौर पर ऐसा लगता है कि उच्च ट्रांसमिसिबिलटी वाले वायरस में वायरल लोड अधिक होना चाहिए, लेकिन अगर डेल्टा वेरिएंट और ओमिक्रॉन वेरिएंट को देखें यह पूरी तरह से अलग है. 24 नवंबर 2021 को ओमिक्रॉन वेरिएंट पहली बार सामने आया था और इसके बाद से यह लगातार फैलता जा रहा है.’

Tags: Coronavirus, Delta Covid Variant, Omicron

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर