Home /News /nation /

सरकार को व्हाट्सऐप का जवाब, कहा- मॉब लिंचिंग की घटनाएं भयानक, रोकेंगे मिसयूज

सरकार को व्हाट्सऐप का जवाब, कहा- मॉब लिंचिंग की घटनाएं भयानक, रोकेंगे मिसयूज

demo image

demo image

वॉट्सऐप ने बताया कि वह दो सूत्रीय तरीका अपनाती है. इसमें एक लोगों को खुद को सुरक्षित रखने के लिए नियंत्रण की सुविधा और सूचनाएं दी जाती हैं. वॉट्सऐप का दुरुपयोग रोकने के लिए सक्रियता से काम किया जा रहा है.

    अफवाहों की वजह से देशभर में सामने आ रही हिंसक घटनाओं के बाद मोदी सरकार ने वॉट्सऐप को चेतावनी देते हुए जवाब मांगा था. इसके बाद बाद व्हाट्सऐप ने बुधवार को कहा कि ये घटनाएं भयावह हैं. इन्हें रोकने के लिए कदम उठाएं जाएंगे. मैसेजिंग ऐप का दुरुपयोग रोका जाएगा.

    बता दें कि सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने मंगलवार को कहा था कि हिंसा की वजह बनने वाले 'गैरजिम्मेदाराना और भड़काऊ संदेशों' को वॉट्सऐप पर फैलने से रोकने के लिए जरूरी कदम तुरंत उठाए जाएं. मंत्रालय ने कहा कि कंपनी अपनी जिम्मेदारी और जवाबदेही से भाग नहीं सकती है. जिसके बाद वॉट्सऐप ने अपना रुख साफ किया है.

    वॉट्सऐप ने सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय से कहा कि फर्जी खबरें, गलत सूचनाएं, अफवाहों, डर फैलने से रोकने के लिए सरकार-समाज और टेक्नोलॉजी कंपनियों को साथ मिलकर काम करने की जरूरत है. मैसेजिंग ऐप ने कहा, 'वॉट्सऐप को लोगों की सुरक्षा का ख्याल है. इसीलिए हमने सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ऐप बनाया है."


    वॉट्सऐप ने उठाए ये कदम
    वॉट्सऐप ने बताया कि वह दो सूत्रीय तरीका अपनाती है. इसमें एक लोगों को खुद को सुरक्षित रखने के लिए नियंत्रण की सुविधा और सूचनाएं दी जाती हैं. वॉट्सऐप का दुरुपयोग रोकने के लिए सक्रियता से काम किया जा रहा है.

    धुले मॉब लिंचिंग: CM फडणवीस का ऐलान, फास्ट ट्रैक कोर्ट में भेजा जाएगा केस

    मैसेजिंग ऐप ने मंत्रालय को भेजी प्रतिक्रिया में उन कदमों की जानकारी दी है, जो फर्जी खबरों और गलत सूचनाओं के प्रसार को रोकने के लिए उठाए जा रहे हैं. इनमें प्रोडक्ट कंट्रोल, डिजिटल एजुकेशन, फैक्ट्स चेकिंग के सक्रिय उपाय शामिल हैं.

    व्हाट्सऐप प्रतिनिधियों की बैठक बुलाएगा केंद्र
    गृह मंत्रालय सोशल मीडिया मंचों के प्रतिनिधियों को बैठक के लिए बुलाएगा. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि बच्चा चोर होने के शक में पीट कर हत्या करने की हालिया घटनाओं ने सबको चिंतित किया है. बैठक में इस मुद्दे पर चर्चा की जाएगी. एक अन्य अधिकारी ने बताया कि सोशल मीडिया के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की तारीख जल्द तय की जाएगी.

    Whatsapp को मोदी सरकार की चेतावनी- हिंसा की वजह बनने वाले संदेशों को फैलने से रोकें

    लगातार सामने आ रहे मॉब लिंचिंग के मामले
    पिछले दिनों कई राज्यों में फेक न्यूज और अफवाहों की वजह से मॉब लिंचिंग यानी पीट-पीटकर हत्या करने के मामले सामने आ चुके हैं. महाराष्ट्र के धुले में रविवार को गांववालों ने बच्चा चोर समझकर पांच लोगों को मार डाला था. ऐसे ही शक में 28 जून को त्रिपुरा में भी दो लोगों की हत्या की गई और 6 अन्य को बुरी तरह से पीटा गया. इसके अलावा असम में भी बच्चा चोरी के शक में दो लोगों को मारा गया. पिछले हफ्ते चेन्नई में भी एक शख्स की पिटाई की गई. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर