• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • जब नोटबंदी ने तोड़ा था ट्रेन से 5 करोड़ लूटने वाले लुटेरों का सपना

जब नोटबंदी ने तोड़ा था ट्रेन से 5 करोड़ लूटने वाले लुटेरों का सपना

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

पुलिस के बयान के अनुसार गैंग के सदस्यों ने तय किया कि वे चिन्नासलेम और विरुधाचलम रेलवे स्टेशन के बीच जहां ट्रेन बिना रुके 45 मिनट के चलती है, लूट की घटना को अंजाम देंगे.

  • Share this:
    चेन्नई पुलिस ने बताया कि 5.78 करोड़ रुपये की ट्रेन डकैती के मामले में गिरफ्तार पांचों आरोपियों की पुलिस हिरासत समाप्त होने के बाद उन्हें सेंट्रल जेल भेज दिया गया है. पुलिस के अनुसार लूट की घटना के तीन महीने बाद नोटबंदी के चलते 500 और 1,000 के नोट बंद हो गए और तीन महीने में लुटेरे इतनी बड़ी रकम खर्च करने में सक्षम नहीं थे.

    क्राइम ब्रांच क्राइम इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट (सीबीसीआईडी) द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, "एच मोहन सिंह, रुसी पारदी, महेश पारदी, कलिया उर्फ कृष्णा उर्फ कब्बू और बल्टिया को 2016 में सलेम-चेन्नई एग्मोर एक्स्प्रेस में 5.78 करोड़ की लूट के मामले में मध्य प्रदेश से गिरफ्तार किया गया था."

    पुलिस के अनुसार एच मोहन सिंह और उनके गिरोह के सदस्य 2016 में तमिलनाडु आए थे और इसके बाद उन्होंने रेलवे स्टेशन, ट्रेन पटरियों के पास, पुलों के नीचे और कई अन्य स्थानों पर कई दिन बिताए. इसी बीच एक दिन मोहन सिंह को सलेम में रहने वाले अपने गिरोह के एक सदस्य से सलेम-चेन्नई ट्रेन रूट में रुपयों की आवाजाही के बारे में जानकारी प्राप्त हुई.

    पुलिस के अनुसार इसके बाद मोहन सिंह ने अपने साथियों के साथ इस रूट पर कई बार सफर किया. पुलिस के बयान के अनुसार गैंग के सदस्यों ने तय किया कि वे चिन्नासलेम और विरुधाचलम रेलवे स्टेशन के बीच जहां ट्रेन बिना रुके 45 मिनट के चलती है, लूट की घटना को अंजाम देंगे.

    ये भी पढ़ें: चोरी-डकैती की योजना बनाते 8 बदमाश गिरफ्तार, वाहन व हथियार बरामद

     

    योजना के अनुसार मोहन सिंह और उसके सहयोगी चिन्नासलेम में ट्रेन में चढ़ गए. पुलिस के अनुसार गैंग ट्रेन की छत पर चढ़ा और छत काटकर 5.78 करोड़ पर उड़ा लिए. गैंग के कुछ सदस्य विरुधाचलम रेलवे स्टेशन के ओवरब्रिज पर उनका इंतजार कर रहे थे. लुटेरों ने कैश के बैग फेंके और फिर ट्रेन से कूदकर भाग गए.

    पुलिस के अनुसार गैंग के सदस्यों ने पैसे आपस में बाट लिए लेकिन 2016 में लूट के तीन महीने बाद ही नोटबंदी हो गई जिस कारण पैसे उनके लिए बेकार हो गए.

    ये भी पढ़ें: एक्सपर्ट्स की राय में नोटबंदी से हुए ये फायदे...

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज