पाकिस्तान की इस बच्ची के इलाज के लिए एक ट्वीट पर सुषमा स्वराज ने दिलाया था वीजा

कराची के रहने वाले सिराज को अपनी बेटी की सर्जरी करानी बेहद अर्जेंट थी. ऐसे में जब सुषमा स्वराज (Sushma swaraj) ने मदद की तो परिवार के आंसू निकल पड़े, मानों दोनों मुल्कों की सरहदें खुद चाहती हों कि अब मिलन हो जाए.

News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 12:12 PM IST
पाकिस्तान की इस बच्ची के इलाज के लिए एक ट्वीट पर सुषमा स्वराज ने दिलाया था वीजा
देश नहीं दुनिया के कोने-कोने से पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के चाहने वाले, उन्हें कह रहे हैं कि 'आप जैसा न कोई था, न कोई होगा'
News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 12:12 PM IST
यूं तो दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सिर्फ एक ट्वीट पर तमाम लोगों को मदद पहुंचाई, लेकिन एक पाकिस्तानी परिवार ऐसा है, जो उन्हें बेहद मिस कर रहा है. दरअसल, ये परिवार पाकिस्तान में कराची का रहने वाला है.

कराची के सिराज अहमद और  उनकी पत्नी हीरा सितंबर, 2016 में अपनी 15 महीने की बच्ची को दिल के ऑपरेशन के लिए नोएडा के एक हॉस्पिटल लाए थे. उस वक्त इस परिवार को आसानी से वीजा मिल गया था. लेकिन इसके बाद भारत-पाकिस्तान के बीच लगातार तल्खियां बढ़ती चली गईं और वीजा लेना मुश्किल हो गया.

बच्ची का एक ऑपरेशन हो चुका था. वक्त तेजी से बीत गया. नवंबर 2015 आ गया. इस महीने फिर से सिराज अहमद को अपनी बच्ची को इलाज के लिए नोएडा लाना था. लेकिन इस बार उन्हें वीजा नहीं मिला. उनकी बच्ची की तबियत खराब होने लगी. ऐसे में उन्हें किसी ने भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बारे में बताया. सिराज को बताया गया कि सुषमा स्वराज सिर्फ एक ट्वीट पर लोगों की मदद को तैयार हो जाती हैं. इसके बाद सिराज ने 18 अक्टूबर को एक ट्विटर अकाउंट खोला और सीधा सुषमा स्वराज को ट्वीट कर दिया. बस फिर क्या था, इधर सिराज ने बेटी के इलाज के लिए भारत आने की गुहार लगाई, उधर उनके पास भारतीय उच्चायोग से फोन चला गया. सिराज को बताया गया कि उन्हें कराची में ही वीजा उपलब्ध करा दिया जाएगा.

सिराज को अपनी बेटी की सर्जरी करानी बेहद अर्जेंट थी. ऐसे में जब सुषमा स्वराज ने मदद की तो परिवार के आंसू निकल पड़े, मानों दोनों मुल्कों की सरहदें खुद चाहती हों कि अब मिलन हो जाए.


दिल्ली एयरपोर्ट पर मिली खास सुविधा
सुषमा स्वराज ने सिर्फ वीजा दिलाकर ही परिवार से पल्ला नहीं झाड़ा, बल्कि बच्ची के इलाज में किसी तरह की देरी न हो इस बात का खयाल भी रखा. सिराज ने उस वक्त ET से बात करते हुए बताया था कि उनके परिवार को दिल्ली एयरपोर्ट पर कस्टम के अधिकारियों ने रिसीव किया. लाइन में लगने पर किसी तरह का वक्त बर्बाद न हो इसके लिए उन्हें अलग से बाहर निकाला गया और सीधे नोएडा के जेपी हॉस्पिटल ले जाया गया. वो सिराज की बेटी की दूसरी हार्ट सर्जरी थी.

sushma swaraj
एक ट्वीट पर हजारों लोगों का दर्द दूर करने वाली सुषमा स्वराज के लिए आज लाखों-करोड़ों लोग ट्वीट कर रहे हैं...और सिर्फ यही कह रहे हैं 'लौट आओ सुषमा मां'

Loading...

अब 10 साल बाद होगी सर्जरी
फिलहाल सिराज की बेटी स्वस्थ है. उसकी तीसरी सर्जरी होनी है. इसके लिए जेपी हॉस्पिटल ने उन्हे 10 साल बाद दोबारा समय दिया है. वक्त अभी दूर है. हमारे बीच सुषमा जी जैसी महान नेता भी नहीं हैं. सिराज कहते हैं कि उन्हें यकीन है कि दोनों मुल्कों के दिलों में जो तल्खी है वो दूर होगी और जब वो 10 साल बाद अपनी बेटी को फिर से भारत लेकर आएंगे तो शायद उन्हें आसानी से वीजा मिल जाएगा. इस बीच वो न तो सुषमा जी का शुक्रिया अदा करना भूलते हैं और न भारत के डॉक्टर्स का.

यह भी पढ़ें- लिम्का बुक में सुषमा स्वराज के नाम पर दर्ज हैं ये रिकॉर्ड

निधन की खबर सुन रो रही गीता, मां की तरह ख्याल रखती थीं सुषमा
First published: August 7, 2019, 11:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...