लाइव टीवी

जब पीएम मोदी ने कहा, 'गूगल ने मेरी पढ़ने की आदत बिगाड़ दी है'

News18Hindi
Updated: November 24, 2019, 6:08 PM IST
जब पीएम मोदी ने कहा, 'गूगल ने मेरी पढ़ने की आदत बिगाड़ दी है'
पीएम मोदी ने मन की बात के दौरान NCC स्टूडेंट्स से भी बात की (फाइल फोटो, क्रेडिट- REUTERS)

पीएम मोदी (PM Modi) ने एक सवाल के जवाब में कहा, मैं हमेशा किताबें (Books) पढ़ने का शौकीन रहा हूं लेकिन मेरी फिल्में (Films) देखने में कोई रुचि नहीं रही, न ही मैंने लगातार टीवी (TV) देखी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2019, 6:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मन की बात (Mann ki Baat) के 59वें संस्करण में स्कूल स्टूडेंट्स के साथ बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि वे किताबें पढ़ा करते थे लेकिन गूगल (Google) ने उनकी पढ़ने की आदत बिगाड़ दी है. क्योंकि यह किसी चीज का संदर्भ खोजने का एक शॉर्टकट है.

प्रोग्राम के दौरान रोहतक, हरियाणा (Haryana) के एक स्टूडेंट अखिल ने प्रधानमंत्री से पूछा कि वह बहुत व्यस्त रहते हैं लेकिन क्या इसके बावजूद उन्हें टीवी (TV) देखने, फिल्में देखने या किताबें (Books) पढ़ने का वक्त मिल पाता है?

पहले कभी-कभी डिस्कवरी चैनल देखा करते थे पीएम मोदी
इस पर पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा, मैं हमेशा किताबें पढ़ने का शौकीन रहा हूं लेकिन मेरी फिल्में देखने में कोई रुचि नहीं रही, न ही मैंने लगातार टीवी देखी है. हालांकि, पहले कभी-कभी मैं डिस्कवरी चैनल (Discovery Channel) देखा करता था.

पीएम मोदी ने मजाक के लहजे में कहा, मैं किताबें पढ़ा करता था लेकिन आजकल मैं बहुत नहीं पढ़ पाता और गूगल ने भी हमें बिगाड़ा है क्योंकि हम कभी भी उससे किसी चीज के बारे में जान सकते हैं. प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही नेशनल कैडेट कोर (NCC) के स्टूडेंट्स से बात की और उनके सवालों के जवाब दिए.

अयोध्या मामले में जनता के धैर्य और परिपक्वता के लिए किया 'साधुवाद'
मन की बात के इस 59वें संस्करण में पीएम मोदी ने अयोध्या मामले में उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के फैसले को ऐतिहासिक बताने के साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस मामले में धैर्य और परिपक्वता का परिचय देने के लिए देश की जनता को साधुवाद दिया.
Loading...

प्रधानमंत्री ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस ऐतिहासिक फैसले के बाद देश, न्यू इंडिया (New India) की भावना को अपनाकर शांति, एकता और सद्भावना के साथ आगे बढ़े- यही मेरी कामना है, हम सबकी कामना है.’’ उन्होंने कहा कि जब 9 नवम्बर को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया तो 130 करोड़ भारतीयों ने फिर से ये साबित कर दिया कि उनके लिए देशहित से बढ़कर कुछ नहीं है.

यह भी पढ़ें: PM मोदी ने अयोध्या मामले पर धैर्य दिखाने के लिए देशवासियों को दिया धन्यवाद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 5:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...