लाइव टीवी

सोनिया भी दे चुकी हैं डिग्री की गलत जानकारी, कोर्ट में बताया था Typo Error

News18Hindi
Updated: April 12, 2019, 7:06 PM IST
सोनिया भी दे चुकी हैं डिग्री की गलत जानकारी, कोर्ट में बताया था Typo Error
सुप्रतीकात्मक तस्वीर

स्वामी ने 2000 में तत्कालीन लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी के पास सोनिया गांधी के बायोडाटा को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी. साथ ही सुप्रीम कोर्ट में इस आधार पर उनकी लोकसभा सदस्यता खत्म करने की मांग की. यूपीए अध्यक्ष को मानना पड़ा था कि लोकसभा पब्लिकेशन में गलती से कैम्ब्रिज यूनीवर्सिटी छप गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2019, 7:06 PM IST
  • Share this:
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की डिग्री को लेकर कांग्रेस लगातार हमलावर है. इससे पहले भी कई नेताओं की एजुकेशन पर सवाल उठ चुके हैं. आप नेता और दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर को गिरफ्तार तक कर लिया गया था. साल 2000 की शुरुआत में राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी की डिग्री को लेकर लोकसभा अध्यक्ष से शिकायत की थी. साथ ही सुप्रीम कोर्ट से गलत जानकारी देने के आधार पर उनकी लोकसभा सदस्यता खत्म करने की गुहार भी लगाई थी. इसके बाद यूपीए अध्यक्ष की पढ़ाई और डिग्री को लेकर लगातार सवाल उठते रहे हैं.

दरअसल, स्वामी ने तत्कालीन लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी के पास सोनिया गांधी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराकर कहा था, लोकसभा पेज के 'हू इज़ हू' यानी 'कौन क्या है' सेक्शन में लिखा है कि सोनिया गांधी ने कैम्ब्रिज यूनीवर्सिटी से अंग्रेज़ी में डिप्लोमा किया था. स्वामी के मुताबिक उन्होंने कैम्ब्रिज यूनीवर्सिटी से इस बारे में जानकारी मांगी थी. इसके जवाब में यूनीवर्सिटी ने बताया कि सोनिया ने वहां कभी पढ़ाई ही नहीं की है.

यह भी पढ़ें: स्मृति ईरानी के हलफनामे पर कांग्रेस का तंज, कहा- 'क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रेजुएट थीं'

स्वामी के मुताबिक, तत्कालीन लोकसभा अध्यक्ष ने शिकायत पर स्पष्टीकरण के लिए सोनिया गांधी से पत्राचार किया. उस वक्त सोनिया गांधी के यहां से जवाब आया कि उन्होंने कैम्ब्रिज से डिग्री ली है न कि कैम्ब्रिज यूनीवर्सिटी से. लोकसभा पब्लिकेशन में यूनीवर्सिटी शब्द गलती से छप गया है.

मानना पड़ा, गलती से एफिडेविट में छप गया 'यूनीवर्सिटी' 

2000 के शुरुआत में स्वामी ने कोर्ट में साबित करने की कोशिश की थी कि सोनिया गांधी ने अपनी एजुकेशन को लेकर इलेक्शन एफिडेविट में झूठी जानकारी दी. सुप्रीम कोर्ट ने सोनिया गांधी की लोकसभा सदस्यता खत्म करने को लेकर दायर स्वामी की याचिका पर 2005 में फैसला दिया कि ऐसा नहीं किया जा सकता. हालांकि, 10 जनपथ को स्वीकार करना पड़ा कि एफिडेविट में 'यूनीवर्सिटी' शब्द गलती से छप गया. बाद में स्वामी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की एजुकेशन पर भी सवाल उठाए थे.

यह भी पढ़ें: कैराना: बटन दबाया कमल का, वोट पड़ी कप-प्लेट पर, शिकायत के बाद बदली EVM
Loading...

यह भी पढ़ें: दस्यु सम्राट मलखान सिंह ने कहा, चंबल का बागी धरौहरा के सियासी डाकुओं का करेगा सफाया

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 12, 2019, 4:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...