जानिए, सुषमा स्वराज ने अचानक क्यों कहा था- मैं अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ूंगी

तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जब लोकसभा चुनावों की राजनीति से अपने संन्यास की घोषणा की, तब वह मध्यप्रदेश के विदिशा क्षेत्र की सांसद थीं.

भाषा
Updated: August 7, 2019, 2:20 PM IST
जानिए, सुषमा स्वराज ने अचानक क्यों कहा था- मैं अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ूंगी
जब स्वराज ने अचानक कहा, मैं अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ूंगी
भाषा
Updated: August 7, 2019, 2:20 PM IST
पूर्व विदेश मंत्री और बीजेपी की सीनियर नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार देर रात निधन हो गया. सुषमा स्वराज का भारतीय राजनीति में बड़ा वर्चस्व था. उन्होंने करीब 9 महीने पहले अचानक यह घोषणा कर सियासी गहमागहमी बढ़ा दी थी कि उन्होंने स्वास्थ्य कारणों से अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है.

मध्य प्रदेश के पिछले विधानसभा चुनावों में बीजेपी के प्रचार के लिये यहां पहुंचीं तत्कालीन विदेश मंत्री ने यह घोषणा शहर के एक होटल में 20 नवंबर 2018 को आयोजित संवाददाता सम्मेलन में की थी. इस दौरान उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा था, ‘वैसे तो मेरी चुनावी उम्मीदवारी तय करने का अधिकार मेरी पार्टी के पास है, लेकिन स्वास्थ्य कारणों की वजह से मैंने अपना मन बना लिया है कि मैं अगला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ूंगी.’

चुनाव न लड़ने की घोषणा से छाया था सन्नाटा
चश्मदीद लोगों ने बुधवार को बताया कि स्वराज के इस अप्रत्याशित बयान के बाद संवाददाता सम्मेलन में चंद पलों के लिये सन्नाटा छा गया था. इसके बाद संवाददाताओं को इस खबर को अपने संस्थानों तक यथाशीघ्र पहुंचाने की जद्दोजहद करते देखा गया था. कुछ ही देर बाद यह खबर मीडिया और सोशल मीडिया की सुर्खियों में थी.

तत्कालीन विदेश मंत्री ने जब लोकसभा चुनावों की राजनीति से अपने संन्यास की घोषणा की, तब वह मध्यप्रदेश के विदिशा क्षेत्र की सांसद थीं. वह वर्ष 2009 और 2014 में इस लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर संसद के निचले सदन पहुंची थीं.

BJP विधायक को दी थी ये हिदायत
सूबे के विधानसभा चुनावों की सरगर्मियों के बीच आयोजित संवाददाता सम्मेलन में वरिष्ठ बीजेपी नेता ने कहा था, ‘विदिशा से वर्ष 2009 में लोकसभा सदस्य चुने जाने के बाद मैं सदन की नेता प्रतिपक्ष और इसके पश्चात विदेश मंत्री के अहम पदों पर आसीन होने के बावजूद 8 साल तक अपनी संसदीय सीट के आठों विधानसभा क्षेत्रों में हर महीने नियमित तौर पर जाती थी, लेकिन दिसंबर 2016 में किडनी प्रत्यारोपण के बाद मुझे डॉक्टरों ने धूल से बचने की हिदायत दी है. इस कारण मैं पिछले एक साल से (खुले स्थानों पर आयोजित) चुनावी सभाओं में भी भाग नहीं ले पा रही हूं.’
Loading...

सुषमा स्वराज ने कहा था, ‘मैं स्वास्थ्य कारणों से खुले स्थानों पर आयोजित कार्यक्रमों में शामिल नहीं हो सकती. मैं बंद सभागारों में ही कार्यक्रम कर सकती हूं. मैंने अपने नेतृत्व से भी कहा है कि अपने स्वास्थ्य की मर्यादा को देखते हुए मुझे धूल से बचना है.’

मध्य प्रदेश में शोक की लहर
इस बीच, स्वराज के निधन से मध्यप्रदेश के राजनीतिक हलकों में भी शोक की लहर है. राज्य में बीजेपी और कांग्रेस समेत विभिन्न राजनीतिक दलों के वरिष्ठ नेताओं ने समाज के प्रति उनके योगदान को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है.


ये भी पढ़ें- सुषमा के निधन पर UNGA अध्यक्ष ने जताया शोक, कहा- मैं हमेशा उन्हें याद रखूंगी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 7, 2019, 1:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...