देश के 18 राज्यों में फैला कोरोना का नया डबल म्यूटेंट स्ट्रेन, जानें कहां कितने केस

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक सिर्फ महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का ब्राजील म्यूटेंट मिला है. फाइल फोटो

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक सिर्फ महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का ब्राजील म्यूटेंट मिला है. फाइल फोटो

Coronavirus in India: मंत्रालय ने कहा कि INSACOG द्वारा की गई ‘जीनोम सीक्वेंसिंग’ में कई राज्यों में कोरोना वायरस के वीओसी और दोहरे उत्परिवर्तन वाले एक नए स्वरूप की पहचान हुई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) ने बुधवार को कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए स्वरूपों के अंतर्गत कम से कम 18 राज्यों में पहले ही मिल चुके वायरस के कई चिंताजनक स्वरूपों (म्यूटेंट) के अलावा दोहरे उत्परिवर्तन वाला एक नया स्वरूप (डबल म्यूटेंट) भी भारत में मिला है. इनमें से कुछ चिंताजनक स्वरूप ‘‘वैरिएंट्स ऑफ कंसर्न’’ (वीओसी) पहले दूसरे देशों में मिले थे. हालांकि मंत्रालय ने कहा कि अब तक पर्याप्त रूप से यह स्थापित नहीं हो पाया है कि क्या भारत में हाल के दिनों में महामारी के मामलों में फिर से वृद्धि के लिए कोरोना वायरस के यही स्वरूप जिम्मेदार हैं. मंत्रालय कहा कि भारतीय सार्स कोव-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (आईएनएसएसीओजी) द्वारा की गई ‘जीनोम सीक्वेंसिंग’ में कई राज्यों में कोरोना वायरस के वीओसी और दोहरे उत्परिवर्तन वाले एक नए स्वरूप की पहचान हुई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने 25 दिसंबर को आईएनएसएसीओजी की स्थापना की थी, जो कोविड-19 से संबंधित विषाणुओं की ‘जीनोम सीक्वेंसिंग’ और विश्लेषण और जीनोमिक स्वरूपों के साथ महामारी संबंधी घटनाक्रमों को देखने वाला दस राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं का समूह है. मंत्रालय ने रेखांकित किया कि विभिन्न विषाणुओं के जीनोमिक स्वरूप एक प्राकृतिक घटनाक्रम हैं और ये सभी देशों में पाए जाते हैं. इसने कहा, ‘‘जब से आईएनएसएसीओजी ने काम शुरू किया है, तब से राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की ओर से साझा किए गए 10787 संक्रमित नमूनों में से इस वायरस के 771 चिंताजनक स्वरूपों (वीओसी) का पता लगाया है.’’ मंत्रालय ने कहा, ‘‘इनमें ब्रिटेन के वायरस (बी.1.1.7.) लिनिएज के 736 संक्रमित नमूने भी हैं. दक्षिण अफ्रीकी वायरस लिनिएज (बी.1.3.5.1) संबंधी 34 नमूने भी संक्रमित पाए गए हैं. एक संक्रमित नमूना ब्राजील के लिनिएज (पी.1) के वायरस से संबंधित पाया गया. ये वीओसी युक्त नमूने देश के 18 राज्यों में चिह्नित किए गए हैं.’’

कहां हैं कितने मामले?

देश के विभिन्न राज्यों में मिले ब्रिटेन, साउथ अफ्रीका और ब्राजील के वायरस म्यूटेंट के मामलों की संख्या के बारे में बात करें तो पंजाब में 336, तेलंगाना में 104, दिल्ली में 69 और महाराष्ट्र में 62 म्यूटेंट मिले हैं. आंध्र प्रदेश में वायरस म्यूटेंट की संख्या 20 है तो गोवा में 5, गुजरात में 39, हरियाणा में 6, कर्नाटक में 33, केरल में 16, लद्दाख में 1, मध्य प्रदेश में 11, ओड़िशा में 3, राजस्थान में 22, तमिलनाडु में 15, उत्तर प्रदेश में 17, उत्तराखंड में 1 और पश्चिम बंगाल में 11 म्यूटेंट मिले हैं.
बता दें कि सिर्फ महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का ब्राजील म्यूटेंट मिला है. वहीं वायरस का दक्षिणी अफ्रीकी म्यूटेंट की संख्या में आंध्र प्रदेश में 3, दिल्ली में 4, कर्नाटक में 3, महाराष्ट्र में 5, तमिलनाडु में 1, तेलंगाना में 17 और पश्चिम बंगाल में 1 पाया गया है. देश के 18 राज्यों में मिले म्यूटेंट में ब्रिटेन के वायरस स्ट्रेन के मामले सबसे ज्यादा हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज