कोरोना वायरस से बचने के लिए कौन सा मास्क सबसे सही? सरकार ने दिया जवाब

मास्क पहनने से वायरस के प्रभाव में कमी लाई जा सकती है.
मास्क पहनने से वायरस के प्रभाव में कमी लाई जा सकती है.

Coronavirus in India: वीके पॉल ने कहा कि कोविड-19 के प्रभाव में स्थिरता आ रही है. हमें अधिक सावधान रहना होगा क्योंकि यह सांस से संबंधित वायरस है और इस तरह के ज्यादातर सांस से संबंधित वायरस सर्दियों के दौरान बढ़ जाते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 8:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार (Central Government) ने हर किसी से आगामी त्योहार के मौसम और सर्दियों में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मद्देनजर उचित व्यवहार का पालन करने की अपील की है. नीति आयोग (Niti Ayog) के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने मंगलवार को कोविड-19 (Covid-19) की वर्तमान स्थिति पर होने वाले साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccine) मिलने तक हम सभी को सोशल वैक्सीन का इस्तेमाल करना होगा. पॉल ने मास्क पहनने, हाथ धोने और सामाजिक दूरी के नियम (Social Distancing Norms) अपनाने को सोशल वैक्सीन बताया. पॉल ने लोगों से मास्क लगाने और सुरक्षा उपायों को अपनाने की अपील करते हुए कहा कि अगर हम सभी तय नियम, जैसे-मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन करने, हाथ धोने की आदत को बनाए रखेंगे तो भारत संक्रमण की दूसरी लहर से बच सकेगा और हम दुनिया के सामने मिसाल पेश कर सकेंगे.

वीके पॉल ने कहा कि कोविड-19 के प्रभाव में स्थिरता आ रही है. हमें अपनी स्वच्छता प्रथाओं में अधिक सावधान रहना होगा क्योंकि यह सांस से संबंधित वायरस है और इस तरह के ज्यादातर सांस से संबंधित वायरस सर्दियों के दौरान बढ़ जाते हैं. उन्होंने कहा कि सामान्य तौर पर भी सर्दियों में या फिर मौसम बदलने पर भी लोगों को सर्दी जुकाम जैसी शिकायत हो जाती है और ऐसे समय में जब पूरी दुनिया में ये जानलेवा महामारी फैली है लोगों को विशेष ध्यान रखना जरूरी है.





ये भी पढ़ें- Covid 19 संकट के बीच देशभर में पूरी तरह रुक जाएगा भारतीय रेलवे का पहिया?
किस तरह का मास्क सही
कोरोना वायरस से बचाव के लिए सही मास्क से जुड़े एक सवाल के जवाब में पॉल ने कहा कि तीन लेयर वाले मास्क और घर के बने मास्क कोरोना प्रसार को रोकने के लिए प्रभावी हैं. उन्होंने कहा कि एन95 मास्क अस्पतालों में काम कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों के लिए फायदेमंद हैं जबकि सर्जिकल मास्क सामान्य तौर पर इस्तेमाल करने के लिए प्रभावी हैं. पॉल ने कहा कि भीड़-भाड़ वाली जगहों पर एन95 मास्क का इस्तेमाल किया जा सकता है.

पॉल ने कहा कि हमें अपने व्यवहार में परिवर्तन लाना बेहद जरूरी है. इसके साथ-साथ मास्क पहनना भी अनिवार्य है. उन्होंने कहा कि जब भी आप एक से अधिक लोगों के साथ बैठे हों तो भी मास्क पहनें वरना ये वायरस आपके लिए भले ही न हो लेकिन आपके घर के बड़े-बुजुर्गों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है. पॉल ने कहा कि जब भी आप किसी को बिना मास्क के देखें तो उन्हें मास्क पहनने के लिए कहें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज