दिल्ली में व्हाइट फंगस का मामला: फूड पाइप और आंतों में हुआ छेद, चार घंटे तक चली सर्जरी

White fungus के चलते आंत में हुई छेद (सांकेतिक तस्वीर)

White fungus के चलते आंत में हुई छेद (सांकेतिक तस्वीर)

सर गंगाराम अस्पताल (Sir Ganga Ram Hospital) में व्हाइट फंगस (White Fungus) का ऐसा मामला आया है जो रोंगटे खड़े कर देने वाला है.

  • Share this:

नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित सर गंगाराम अस्पताल (Sir Ganga Ram Hospital) में व्हाइट फंगस (White Fungus) का ऐसा मामला आया है जो रोंगटे खड़े कर देने वाला है. अस्पताल की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार मरीज पहले से कोविड संक्रमित थीं. संक्रमण के बाद उनके फूड पाइप, छोटी आंत और बड़ी आंत में छेद हो गए. जांच में पता चला इन दिक्कतों की असल वजह व्हाइट फंगस है. डॉक्टरों की एक टीम ने 4 घंटे की सर्जरी के बाद छेद बंद किए. इसके बाद मरीज का एंटी फंगल इलाज शुरू हुआ.

अस्पताल के डिपार्टमेंट ऑफ सर्जिकल गैस्ट्रोएंटरोलॉजी एड सीवर ट्रांसप्लांटेशन की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में जानकारी दी गई कि 49 साल की महिला 13 मई 2021 को सर गंगाराम अस्पताल के इमरजेंसी में लाई गईं. उनके पेट में असहनीय दर्द था और वह उल्टियों के साथ कब्ज से पीड़ित थीं. एडमिशन के समय महिला शॉक में थी और सांस लेने में उन्हें काफी कठिनाई हो रही थी .सीटी स्कैन करने पर मरीज के पेट में हवा और लिक्विड का एहसास हुआ जो कि आंतों में छेद की निशानी है.

एंटीफंगल ट्रीटमेंट से मिला आराम

अस्पताल के बयान के अनुसार डॉक्टर अनिल अरोड़ा ने बताया मरीज की हालत काफी नाजुक थी. हमने तुरंत उनके पेट में पाइप से करीब एक लीटर पस एवं बाइल लिक्विड निकाला. उन्होंने बताया कि उसके बाद इमरजेंसी सर्जरी के लिए डॉक्टर समीरन की अगुआई में बनी टीम द्वारा ऑपरेशन किया गया.


डॉक्टर समीरन नंदी ने कहा कि चार घंटे चली इस मुश्किल सर्जरी में हमने महिला की फूड पाइप छोटी आंत और बड़ी आंत में हुए छेदों को बंद कर दिया एवं लिक्विड लीक को रोक दिया. छोटी आंत में हुए गैंगरीन को भी काटकर निकाल दिया गया. इसके एक टुकड़े को बायोप्सी के लिए भेज दिया. बयान के मुताबिक डॉ. अरोड़ा ने बताया, 'आंत से निकाले गए टुकड़ों की बायोप्सी से हमें पता चला कि आंतों में व्हाइट फंगस है.' उन्होंने कहा कि एंटीफंगल ट्रीटमेंट से मरीज को आराम मिला.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज