अपना शहर चुनें

States

92 गरीब देशों में कोरोना वैक्सीन के गंभीर साइड इफेक्ट पर मिलेगा मुआवजा, WHO सहमत

कोवैक्स योजना के माध्यम से कोविड-19 शॉट्स प्राप्त करने के कारण देशों का सवाल था कि किसी भी गंभीर कोविड-19 वैक्सीन साइड इफेक्ट्स की स्थिति में मुआवजे के दावों को कैसे संभाला जाएगा (सांकेतिक तस्वीर)
कोवैक्स योजना के माध्यम से कोविड-19 शॉट्स प्राप्त करने के कारण देशों का सवाल था कि किसी भी गंभीर कोविड-19 वैक्सीन साइड इफेक्ट्स की स्थिति में मुआवजे के दावों को कैसे संभाला जाएगा (सांकेतिक तस्वीर)

Covax: कोवैक्स एडवांस मार्केट कमिटमेंट- 92 गरीब देशों का एक समूह है जिसमें कि अधिकांश अफ्रीकी और दक्षिण पूर्व एशियाई देश शामिल हैं.

  • Share this:
लंदन. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) वैसे 92 गरीब देशों के लोगों में कोरोना के टीका के गंभीर दुष्प्रभावों के दावों को निपटाने के लिए नो-फॉल्ट मुआवजा योजना पर सहमति जताई है. बता दें कि COVAX के जरिए कोविड-19 वैक्सीन का टीका हासिल करने वाले देशों में टीके के दुष्प्रभावों को लेकर चिंता जताई जा रही थी. WHO ने कहा कि यह दुनिया का पहला और एकमात्र वैक्सीन से नुकसान से जुड़े मुआवजा वाला प्रोग्राम है. मुआवजा मैकनिज्म अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काम करेगा. दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य संस्था ने एक बयान जारी कर कहा कि यह मुआवजा, योग्य लोगों को तुरंत और पारदर्शी तरीके से तुरंत दिया जाएगा.

बयान में कहा गया है, "किसी भी दावे के फुल एंड फाइनल सेटेलमेंट में एकमुश्त मुआवजा प्रदान करने से, कोवैक्स कार्यक्रम का उद्देश्य कानून अदालतों में संभावित रूप से लंबी और महंगी प्रक्रिया के लिए आवश्यकता को कम करना है." कोवैक्स योजना के माध्यम से कोविड-19 शॉट्स प्राप्त करने के कारण देशों का सवाल था कि किसी भी गंभीर कोविड-19 वैक्सीन साइड इफेक्ट्स की स्थिति में मुआवजे के दावों को कैसे संभाला जाएगा, जो कि उनके लिए चिंता का विषय था.

जो देश खुद की कोविड-19 वैक्सीन की खरीद के फंडिंग कर रहे हैं वह भी अपने दायित्व कार्यक्रमों की योजना बनाते हैं.



पिछले कई महीनों से जारी थी चर्चा
विश्व स्वास्थ्य संगठन की सहमति योजना, जिस पर पिछले कई महीनों से चर्चा चल रही थी, कोवैक्स एडवांस मार्केट कमिटमेंट-योग्य अर्थव्यवस्थाओं के लिए 30 जून 2022 तक किसी भी कोवैक्स वितरित वैक्सीन के तहत गंभीर साइड इफेक्ट्स को कवर करने के लिए डिजाइन किया गया है. कोवैक्स एडवांस मार्केट कमिटमेंट- 92 गरीब देशों का एक समूह है जिसमें कि अधिकांश अफ्रीकी और दक्षिण पूर्व एशियाई देश शामिल हैं.

कार्यक्रम कोवैक्स के माध्यम से वितरित कोविड-19 टीके के सभी खुराक पर एक अतिरिक्त शुल्क के रूप में एएमसी के डोनर फंडिग से शुरू में फंड किया जाएगा. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि आवेदन 31 मार्च, 2021 से http://www.covaxclaims.com पर एक पोर्टल के माध्यम से किए जा सकते हैं.

कोवैक्स का नेतृत्व कर रहे गावी वैक्सीन अलायंस के चीफ एक्सीक्यूटिव सेठ बर्कले ने कहा कि मुआवजे के फंड को लेकर हुई सहमति कोवैक्स को बढ़ावा देगी, जिसका उद्देश्य कोविड-19 टीकों के लिए समान वैश्विक पहुंच को सुरक्षित करना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज