कौन हैं दिलीप वलसे पाटिल जो अनिल देशमुख की जगह बनेंगे महाराष्ट्र के गृह मंत्री

दिलीप पाटिल को शरद पवार के नजदीकियों में शुमार किया जाता है. ( तस्वीर- Dwalsepatil Facbook)

दिलीप पाटिल को शरद पवार के नजदीकियों में शुमार किया जाता है. ( तस्वीर- Dwalsepatil Facbook)

दिलीप पाटिल (Dilip Walse Patil) के पास महाराष्ट्र की राजनीति में लंबा अनुभव है. वो 1999 से लेकर 2008 तक विभिन्न मंत्रालयों का काम संभाल चुके हैं. राज्य के अंबेगांव इलाके से ताल्लुक रखने वाले दिलीप पाटिल 6 बार के विधायक हैं. वो वर्तमान सरकार में एक्साइज और लेबर मिनिस्टर हैं.

  • Share this:

मुंबई. महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने आज भ्रष्टाचार के आरोपों पर नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया है. देशमुख के इस्तीफे के बाद दिलीप वलसे पाटिल (Dilip Walse Patil) को गृह मंत्री का पद भार दिया गया है. महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय ने इसकी घोषणा की है. दिलीप वलसे पाटिल अब तक श्रम विभाग का कार्य संभाल रहे थे जिसका अतिरिक्त कार्यभार अब हसन मुशरिफ को दिया गया है. वहीं राज्य एक्साइज़ विभाग उप मुख्यमंत्री अजित पवार को दिया गया है.

दिलीप पाटिल के पास महाराष्ट्र की राजनीति में लंबा अनुभव है. वो 1999 से लेकर 2008 तक विभिन्न मंत्रालयों का काम संभाल चुके हैं. राज्य के अंबेगांव इलाके से ताल्लुक रखने वाले दिलीप पाटिल 6 बार के विधायक हैं. वो वर्तमान सरकार में एक्साइज और लेबर मिनिस्टर हैं. 1999 से 2008 के दौरान पाटिल वित्त मंत्री, ऊर्जा मंत्री, उच्च और तकनीकी शिक्षा मंत्री जैसे हाईप्रोफाइल पोर्टफोलियो पर रह चुके हैं.

Youtube Video

शरद पवार के बेहद नजदीकियों में शुमार किया जाता है
पाटिल को शरद पवार के बेहद नजदीकियों में शुमार किया जाता है. पाटिल ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत शरद पवार के पर्सलन असिस्टेंट के तौर पर की थी. उनके पिता दत्तात्रेय वलसे पाटिल कांग्रेस के विधायक थे और शरद पवार के नजदीकी मित्र भी. अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत दिलीप पाटिल ने कांग्रेस के किशनराव को अंबेगांव सीट से हराकर की थी. उसी के बाद से इस विधानसभा को उनके गढ़ के रूप में देखा जाता है.

इस्तीफा देते वक्त क्या बोले देशमुख

अनिल देशमुख ने मुख्यमंत्री को दिए अपने इस्तीफे में कहा है कि बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के बाद उनका गृह मंत्री के पद पर बने रहना उचित नहीं है इसलिए वह अपना इस्तीफा सौंप रहे हैं. बता दें कि आज ही बॉम्बे हाईकोर्ट ने CBI को मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की 15 दिनों के भीतर प्रारंभिक जांच शुरू करने के लिए कहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज