लाइव टीवी
Elec-widget

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा महाराष्ट्र का महाभारत, शिवसेना-NCP-कांग्रेस की याचिका पर आज 11:30 बजे सुनवाई

News18Hindi
Updated: November 24, 2019, 7:34 AM IST
सुप्रीम कोर्ट पहुंचा महाराष्ट्र का महाभारत, शिवसेना-NCP-कांग्रेस की याचिका पर आज 11:30 बजे सुनवाई
महाराष्ट्र में शनिवार को बड़ा सियासी उलटफेर देखने को मिला, जब देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के भतीजे अजित पवार को उपमुख्यमंत्री बनाया.

शिवसेना ने कहा कि कांग्रेस (Congress), एनसीपी और हमारा गठबंधन (Alliance) सबसे बड़ा है. शिवसेना के विधायकों से उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा है- 'कोई हिम्मत न हारे, हम ही बनाएंगे सरकार.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 24, 2019, 7:34 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Governor Bhagat singh koshyari)  के फैसले के खिलाफ शिवसेना (Shiv Sena), एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) पहुंच गई है. इस याचिका में बीजेपी (BJP) सरकार को बर्खास्त करते हुए 24 घंटे के भीतर फ्लोर टेस्ट कराने की मांग की गई है.

याचिका में इस बात का दावा किया गया है कि संख्याबल के आधार पर शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस सबसे बड़ा दल था और उन्हें ही सरकार बनाने का पहला मौका मिलना चाहिए था. सुप्रीम कोर्ट  इस अर्जी पर रविवार सुबह 11:30 बजे सुनवाई करेगा. सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस एनवी रमन्ना, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस संजीव खन्ना की पीठ इस मामले की सुनवाई करेगी.

शिवसेना ने कहा कि कांग्रेस, एनसीपी और हमारा गठबंधन (Alliance) सबसे बड़ा है. शिवसेना के विधायकों से उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा है- 'कोई हिम्मत न हारे, हम ही बनाएंगे सरकार.' उधर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने भी कहा- 'हमें भरोसा है कि हम इस चोरी-चुके बनी सरकार को जल्द ही गिरा देंगे. हमने सुप्रीम कोर्ट से इस मामले में जल्द से जल्द करने की गुहार लगाई है.'

शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के वकील देवदत्त कामत ने बताया- पिटीशन दाखिल की जा चुकी है. हमने देवेंद्र फड़नवीस को सीएम नियुक्त किए जाने को गैरकानूनी करार देते हुए महाराष्ट्र में कल ही फ्लोर टेस्ट की मांग की है. हमने मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट पूरे मामले में दखल दे और 24 घंटे के भीतर कर्नाटक की तरह ही फ्लोर टेस्ट करवाए.

'शिवसेना- कांग्रेस- एनसीपी राजनीतिक और कानूनी मोर्चे पर लड़ाई लड़ेंगे- अहमद पटेल
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने शनिवार को कहा कि देवेन्द्र फड़णवीस (Devendra Fadnavis) ने जिस 'गुपचुप' तरीके से महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद और राकांपा के अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली, उसे राज्य के इतिहास में काले अक्षरों में लिखा जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य में शिवसेना, एनसीपी और उनकी पार्टी की सरकार बनेगी.

Loading...

अहमद पटेल (Ahmed Patel) ने इन आरोपों को भी खारिज कर दिया है कि राज्य में शिवसेना और राकांपा के साथ मिलकर सरकार बनाने में कांग्रेस ने देर की. अहमद पटेल ने कहा कि शिवसेना- कांग्रेस- एनसीपी गठबंधन विधानसभा में बहुमत साबित करने के दौरान बीजेपी को हराएगा और तीनों दलों के गठबंधन की सरकार बनेगी. तीनों दल राजनीतिक और कानूनी मोर्चे पर लड़ाई लड़ेंगे. पटेल के साथ कांग्रेस महासचिव मल्लिकार्जुन खड़गे और के सी वेणुगोपाल, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण, राज्य कांग्रेस के प्रमुख बाला साहेब थोराट एवं अन्य नेता भी मौजूद थे.

बिना नंबर के नम्बरदार बनने का लालच इन लोगों को ले डूबा- नकवी
महाराष्ट्र में नई सरकार बनने के बाद केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने शनिवार को कहा कि महाराष्ट्र में 'जुगाड़ के बड़े-बड़े फिक्सर' को 'जनादेश के सिक्सर' ने ध्वस्त कर दिया है. नकवी ने पत्रकारों से कहा, 'भैया जब पिच स्लिपरी हो तो रन आउट होने के पक्के चांस होते हैं. यही हाल कांग्रेस और उनके पिटे प्लेयर्स का भी हुआ है.' उन्होंने तंज कसते हुए कहा, 'बिना नंबर के नम्बरदार बनने का लालच ले डूबा इन लोगों को.' नकवी ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में सरकार बनना महाराष्ट्र के विकास और स्थायित्व के लिए शुभ है और महाराष्ट्र के लोगों के जनादेश और उम्मीदों के अनुरूप है.



अजित पवार को हटाकर जयंत पाटिल को बनाया गया विधायक दल का नेता

एनसीपी की मीटिंग में तय हुआ है कि अजित पवार (Ajit Pawar) को विधायक दल के नेता पद से हटाया जाए और जल्द से जल्द गठबंधन के लिए नया रेजोल्यूशन तैयार कर राज्यपाल से मिला जाए. मीटिंग में शरद पवार ने माना कि 11-12 विधायक अजित पवार के साथ गए थे लेकिन उनमें से 5 लौट आए हैं.कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक चव्हाण ने राज्यपाल के फैसले पर सवाल उठाए और कहा कि बीजेपी ने राजनीतिक स्‍तर को गिरा दिया है.

उन्‍होंने शरद पवार पर भरोसा जताते हुए कहा कि हमनें उद्धव ठाकरे के नाम पर विश्‍वास जताया है. शरद पवार की बैठक में 54 में से 48 विधायक मौजूद हैं. जिससे पता चलता है कि विधायक उनके साथ हैं. जिसके बाद अजित पवार को विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया गया है. अब जयंत पाटिल (Jayant Patil) एनसीपी के नए विधायक दल के नेता हैं.

'संजय राउत ने कहा, 30 नवंबर को शिवसेना बनाएगी सरकार'
शिवसेना, NCP और कांग्रेस की तरफ से कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी (Abhishek Manu Singhvi) सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने पहुंचे हैं, शिवसेना ने याचिका पर आज रात ही सुनवाई की मांग भी की थी. हालांकि उनकी मांग को नहीं माना गया. सूत्रों के अनुसार- शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने सुप्रीम कोर्ट में यह भी दावा किया है कि उनके पास 154 विधायकों का समर्थन है.

संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि बीजेपी के पास सरकार बनाने के लिए बहुमत नहीं है. बस आप देखते रहिए, 30 नवंबर को शिवसेना सरकार बनाएगी. शिवसेना के नेता मिलिंद नार्वेकर और एकनाथ शिंदे अपने साथ एनसीपी के 2 विधायक संजय बंसोड़ और बाबासाहेब पाटिल को मुंबई हवाई अड्डे से वाईबी चव्हाण केंद्र में लेकर आए. ऐसा कहा जा रहा है कि एनसीपी के ये दो विधायक अजित पवार के साथ थे.

शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस कल ही सुनवाई की कर रहे हैं मांग
महाराष्ट्र में सरकार के गठन पर कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा कि हमारे 44 विधायक बरकरार हैं. महाराष्ट्र के राज्यपाल ने सभी मानदंडों और नियमों को दरकिनार किया है. सुप्रीम कोर्ट में कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा- हमें भरोसा है कि हम इस चोरी-छुपे बनी सरकार को जल्द ही गिरा देंगे. हमने सुप्रीम कोर्ट से इस मामले में आज रात ही सुनवाई करने की मांग की है.

शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के वकील देवदत्त कामत ने बताया- "पिटीशन दाखिल की जा चुकी है. हमने देवेंद्र फड़नवीस को सीएम नियुक्त किए जाने को गैरकानूनी करार देते हुए महाराष्ट्र में कल ही फ्लोर टेस्ट (Floor Test) की मांग की है. हमने मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट पूरे मामले में दखल दे और 24 घंटे के भीतर कर्नाटक की तरह ही फ्लोर टेस्ट करवाए." वहीं सूत्रों के मुताबिक, महाराष्ट्र में सरकार बनाने के मामले पर अगर आज ही सुनवाई नहीं हुई तो एनसीपी अपने विधायकों को केरल भेज सकती है.

शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट कल सवेरे 11:30 बजे करेगा सुनवाई
वहीं वामदलों ने महाराष्ट्र में नवगठित फडणवीस सरकार को बीजेपी के 'घिनौने जोड़तोड़' का नतीजा बताते हुए कहा है कि यह राजनीतिक अनैतिकता की पराकाष्ठा है और इसकी जितनी निंदा की जाये कम है. माकपा पोलित ब्यूरो ने शनिवार को एक बयान में कहा कि जिस तरह मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने शपथ ली है उससे साफ़ हो गया है कि बीजेपी (BJP) सत्ता के लिये किस हद तक जा सकती है.



हालांकि कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की याचिका को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने स्‍वीकार कर लिया है और कोर्ट सुनवाई के लिए तैयार हो गई है. लेकिन सुप्रीम कोर्ट महाराष्‍ट्र में सरकार गठन के खिलाफ शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की अर्जी पर शनिवार रात सुनवाई की बात को न मानते हुए कल सुबह 11:30 बजे सुनवाई का समय दिया है.

यह भी पढ़ें: जानिए 12 घंटों में कैसे बदल गई महाराष्ट्र में सरकार गठन की सियासत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 23, 2019, 10:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...