कौन होगा असम का मुख्यमंत्री? BJP की अहम बैठक आज, सर्वानंद सोनोवाल और हेमंत बिस्वा शर्मा को दिल्ली बुलाया

सोनोवाल और शर्मा को आज 10 बजे तक दिल्ली पहुंचने के लिए कहा गया है. (फाइल फोटो: PTI)

सोनोवाल और शर्मा को आज 10 बजे तक दिल्ली पहुंचने के लिए कहा गया है. (फाइल फोटो: PTI)

Assam Chief Minister: पश्चिम बंगाल पहुंचे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (JP Nadda) ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा था कि बंगाल में हुई हिंसा के कारण शीर्ष नेतृत्व व्यस्त है. उन्होंने जानकारी दी थी कि इस वजह से असम पर फैसला आने में देरी हो रही है.

  • Share this:

नई दिल्ली. असम में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की जीत के बात मुख्यमंत्री पद के लिए कई तरह की अटकलें जारी हैं. इसी बीच राज्य के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल  (Sarbananda Sonowal) और स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा (Himanta Biswa Sarma) को दिल्ली बुलाया गया है. राज्य के दोनों शीर्ष नेताओं से सीएम मुद्दे पर चर्चा की जानी है. 2 मई को जारी हुई विधानसभा चुनाव के नतीजों में बीजेपी ने जीत हासिल कर राज्य में सत्ता वापसी की थी.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, सोनोवाल और शर्मा को आज 10 बजे तक दिल्ली पहुंचने के लिए कहा गया है. रिपोर्ट के अनुसार, सूत्रों ने बताया कि पार्टी अंतिम फैसला लेने से पहले इस मुद्दे पर दोनों नेताओं के साथ चर्चा करना चाहती है. बताया जा रहा है कि पार्टी ने राज्य में गुटबंदी की संभावनाओं से बचने के लिए ऐसा किया है. कहा जा रहा है कि बीजेपी के लिए यह फैसला आसान नहीं होगा. एक ओर सर्वानंद सोनोवाल की छवि काफी अच्छी है. वहीं, दूसरी ओर शर्मा पार्टी के संकटमोचक की भूमिका निभाते रहे हैं.

मैंने बीजेपी को वोट दिया तो उन्होंने मुझे मारने की कोशिश की-असम के शरणार्थी कैंप में बंगाल हिंसा की गूंज

बंगाल हिंसा की वजह से टला फैसला
पश्चिम बंगाल पहुंचे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा था कि बंगाल में हुई हिंसा के कारण शीर्ष नेतृत्व व्यस्त है. उन्होंने जानकारी दी थी कि इस वजह से असम पर फैसला आने में देरी हो रही है. रिपोर्ट्स के अनुसार, शर्मा और सोनोवाल शनिवार को दिल्ली में नड्डा, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह समेत कई अन्य वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे.


इसके अलावा बीजेपी की अपनी संसदीय समिति की बैठक होनी बाकी है. आमतौर पर यही समिति ही मुख्य मुद्दों पर चर्चा करती है कि राज्य का मुख्यमंत्री कौन होगा. वहीं, पार्टी ने मार्च-अप्रैल से पहले राज्य में सीएम उम्मीदवार के नाम की घोषणा भी नहीं की थी. जबकि, 2016 के चुनाव में बीजेपी ने सोनोवाल मुख्यमंत्री के तौर पर प्रोजेक्ट किया था. बीते रविवार को जारी हुए नतीजों में बीजेपी ने 126 सीटों वाले असम में 60 सीटें जीती थीं. जबकि, उनके गठबंधन में साथी एजीपी ने 9 औ यूपीपीएल ने 6 सीटें अपने नाम की थीं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज