लाइव टीवी

CDS बिपिन रावत के बयान पर भड़के ओवैसी, कहा- अखलाक और पहलू खान के हत्यारों को कट्टरपंथ से कौन करेगा दूर

News18Hindi
Updated: January 17, 2020, 1:15 PM IST
CDS बिपिन रावत के बयान पर भड़के ओवैसी, कहा- अखलाक और पहलू खान के हत्यारों को कट्टरपंथ से कौन करेगा दूर
बिपिन रावत ने छोटे बच्चों को कट्टरपंथी बनाए जाने को लेकर चिंता जताई थी

देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) ने छोटे बच्चों को कट्टरपंथी बनाए जाने को लेकर चिंता जताई थी

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2020, 1:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) पर बच्चों के कट्टरपंथी बनने वाले बयान पर निशाना साधा है. ओवैसी ने कहा है कि जो लोग मॉब लिचिंग में शामिल हैं उन्हें कौन कट्टरपंथ से दूर करेगा. उन्होंने ये भी कहा कि रणनीति बनाना प्रशासन का काम है, कोई जनरल कट्टरपंथ को लेकर रणनीति तय नहीं कर सकता.

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, 'ये उनका कोई पहला हास्यास्पद बयान नहीं है. नीति का निर्णय नागरिक प्रशासन करता है, न कि कोई जनरल. नीति या राजनीति पर बात करके बिपिन रावत सिविलियन सुपरमेसी को कम कर रहे हैं.'

ओवैसी ने उठाए सवाल
तेलंगाना में एक रैली को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा, 'अखलाक के हत्यारों को कौन डी-रैडिकलाइज़ करेगा? पहलू खान के हत्यारों का क्या होगा, जिसने जयपुर में बीच सड़क पर उसकी लिंचिंग कर दी. मुसलमानों और दलितों पर लिंचिंग करने वालों को कौन डी-रैडिकलाइज़ करेगा. इन्हें ऐसे कैंप में ले जाने का जरूरत है.'



#WATCH Telangana:AIMIM chief Asaduddin Owaisi speaks on Chief of Defence Staff General Bipin Rawat's statement, "...There are people who've been completely radicalised. These people need to be taken out separately,possibly taken to some de-radicalisation camps",in Adilabad.(16.1) pic.twitter.com/nDqbZwB9bB



क्या कहा था बिपिन रावत  ने
बता दें कि जनरल बिपिन रावत ने छोटे बच्चों को कट्टरपंथी बनाए जाने को लेकर चिंता जताई थी. दिल्ली में आयोजित रायसीना डायलॉग 2020 में उन्होंने कहा था कि कट्टरपंथ के स्रोत पर कार्रवाई करने की ज़रूरत है. खासकर ऐसे में जबकि 10-12 साल के बच्चों को भी चरमपंथी बनाने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा, 'कट्टरपंथ का मुकाबला किया जा सकता है. हमने कश्मीर में ये देखा है. हम देख रहे हैं कि छोटे बच्चों को कट्टरपंथी बनाया जा रहा है. उन्हें पहचानने की जरूरत है. उन्हें ऐसे सेंटर में डालने की जरूरत है जहां वो इस रास्ते से वापस आ सकें. भारतीय सेना कड़े कदम नहीं उठा रही है. पेलेट गन का इस्तेमाल एक गैर-घातक अभ्यास है. इसे संयम से इस्तेमाल किया जाता है.'

ये भी पढ़ें:-

बिना वैलिड डॉक्यूमेंट के बदले Aadhaar में अपना नाम-पता, अब चलेगा ये सर्टिफिकेट

केरल के बाद, पंजाब सरकार लाएगी आज CAA के खिलाफ प्रस्ताव
First published: January 17, 2020, 1:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading