MP By Election Result 2020 : आज समधी-समधन का होगा फैसला, इमरती की बचेगी कुर्सी या राजे मारेंगे बाज़ी

इमरती देवी का मुकाबला अपने समधी सुरेश राजे से था
इमरती देवी का मुकाबला अपने समधी सुरेश राजे से था

इमरती इस बार बीजेपी (BJP) के टिकट पर चुनाव लड़ीं.इमरती देवी को टक्कर देने के लिए कांग्रेस (Congress) ने सुरेश राजे को मैदान में उतारा था. दोनों समधी-समधन के बीच 2013 में भी मुकाबला हो चुका है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 10, 2020, 8:10 AM IST
  • Share this:
ग्वालियर. ग्वालियर की डबरा सीट पर शिवराज सरकार (Shivraj government) में मंत्री इमरती देवी का अपने समधी सुरेश राजे से मुकाबला था. ये दूसरा मौका है जब इस सीट पर समधियों के बीच टक्कर हुई. पिछले चुनाव (Election) में सुरेश राजे ने अपनी समधन इमरती देवी के लिए चुनाव प्रचार किया था और इमरती 57 हज़ार वोटों से जीती थीं.

डबरा सीट पर इस बार दिलचस्प मुकाबला हुआ जब समधी-समधन आमने-सामने थे. कांग्रेस ने सुरेश राजे को अपना प्रत्याशी बनाया था. इमरती इस बार बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ीं.इमरती देवी को टक्कर देने के लिए कांग्रेस ने सुरेश राजे को मैदान में उतारा था. दोनों समधी-समधन के बीच 2013 में भी मुकाबला हो चुका है.

ये है रिश्ता
सुरेश राजे किसी जमाने में डबरा में BJP के बड़े नेता थे. 2013 में BJP ने सुरेश को अपनी समधन कांग्रेस की इमरती देवी के सामने उतारा था. लेकिन इमरती की इलाके में मजबूत पकड़ के कारण सुरेश को शिकस्त मिली थी.उस चुनाव में इमरती ने सुरेश राजे को 32 हज़ार वोट से हराया था. साल 2018 में सुरेश राजे को BJP ने नज़र अंदाज़ किया तो वह पार्टी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए. उन्होंने 2018 के विधानसभा चुनाव में अपनी समधन इमरती देवी का जोरदार प्रचार किया. जिसके चलते इमरती ने 57 हज़ार की शानदार जीत हासिल की थी.
समधी-समधम में दूसरी बार मुकाबला


इमरती देवी और उनके समधी सुरेश राजे के बीच विधानसभा चुनाव में ये दूसरी बार मुकाबला होगा. साल 2013 में इमरती कांग्रेस से उम्मीदवार थीं. वही BJP ने उनके समधी सुरेश राजे को मैदान में उतारा था. 2020 में इमरती ने कांग्रेस छोड़ BJP का दामन थाम लिया. इस उपचुनाव में इमरती ने BJP से तो सुरेश राजे ने कांग्रेस के टिकट पर जोर आजमाइश की.

12 साल से डबरा सीट पर काबिज हैं इमरती
2008 में डबरा SC सीट हुई तब से इमरती देवी यहां से चुनाव जीतती आ रही हैं. उन्होंने 2008 की शिवराज लहर, 2013 की शिवराज-मोदी लहर में भी डबरा में कांग्रेस को जीत दिलाई. हर चुनाव में उनकी जीत का ग्राफ बढ़ता गया. 2008 में इमरती देवी 10 हज़ार वोट से जीतीं. 2013 में जीत का आंकड़ा 32 हज़ार तो 2018 में बढ़कर 57 हज़ार पहुंच गया. उच्च वर्ग के वोटर पर मजबूत पकड़ के कारण डबरा सीट इमरती का गढ़ बन गयी है. इमरती के गढ़ में इस बार उनके समधी ने एक बार फिर से चुनौती दी है.

डबरा सीट के चुनावी नतीजे
- 2008 में कांग्रेस की इमरती देवी ने बीएसपी के हरगोविंद जौहरी को 10630 वोटों से हराया, बीजेपी तीसरे नंबर पर आयी.
- 2013 में इमरती देवी ने अपने समधी बीजेपी के सुरेश राजे को 33278 वोटों से हराया.
- 2018 में इमरती देवी ने BJP के कप्तान सिंह को 57 हज़ार वोट से हराया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज